Big NewsPoliticsफीचर

‘INDI गठबंधन ही कांग्रेस को खत्म करने की रच रहा साजिश’: गिरिराज

बेगूसराय (TBN – The Bihar Now डेस्क)| लोकसभा चुनाव (Lok Sabha elections 2024) के लिए सीट-बंटवारे के किसी समझौते पर पहुंचने के लिए I.N.D.I.A.के साझेदारों के बीच बातचीत शुरू हो गई है. इसी बीच केंद्रीय मंत्री (Union Minister) और भाजपा नेता गिरिराज सिंह (BJP leader Giriraj Singh) ने मंगलवार को विपक्षी गठबंधन पर कटाक्ष किया है. उन्होंने कहा है कि यह गठबंधन अपने ‘स्वार्थी उद्देश्यों’ को पूरा करने के लिए बनाया गया है और कांग्रेस को खत्म करने की साजिश तो INDI गठबंधन ही कर रहा है.

मंगलवार को मीडिया से बात करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा, “इंडी गठबंधन समान विचारधारा वाले राजनीतिक हितों के अभिसरण का प्रतिनिधित्व नहीं करता है. बल्कि यह स्वार्थी हितों पर बनाया गया गठबंधन है. इस गठबंधन के तहत जो दल एक सामान्य विचारधारा या नीति के लिए एक साथ आए थे, उन्होंने ऐसा नहीं किया.”

उन्होंने आगे कहा कि विपक्षी गठबंधन के क्षेत्रीय दल उन राज्यों में मजबूत स्थिति में हैं जहां उनका अपना शासन है. लेकिन इन राज्यों में कांग्रेस उन दलों के साथ मिलकर अपने लिए ज्यादा चुनावी लाभ नहीं उठा पाएगी.

गिरिराज सिंह ने कहा, “उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party in Uttar Pradesh), बिहार में जेडीयू (JDU in Bihar), दिल्ली और पंजाब में आप (AAP in Delhi and Punjab) और पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस (Mamata Banerjee’s Trinamool Congress in West Bengal) है. ये अलग-अलग गठबंधन सहयोगी हैं और उनके साथ गठबंधन करने से कांग्रेस को ज्यादा मदद नहीं मिलेगी.”

कांग्रेस को सिर्फ 10 प्रतिशत टिकट मिलेगा

लोकसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारे पर, जो कि इंडिया ब्लॉक के सदस्यों के लिए विवाद का एक प्रमुख मुद्दा बना हुआ है, केंद्रीय मंत्री ने कहा, “मेरे अनुमान के अनुसार, कांग्रेस जितनी सीटों की मांग कर रहा है, उसका सिर्फ 10 प्रतिशत ही सीट उनको मिलेगा.”

कांग्रेस को खत्म करने की साजिश

यह दावा करते हुए कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ‘खत्म’ हो जाएगी, बीजेपी नेता ने कहा, ”यह स्वार्थों का गठबंधन है. पूरी संभावना है कि वे पश्चिम बंगाल, बिहार, दिल्ली, यूपी और पंजाब में काफी कम सीटों पर लड़ेंगे. आप देखेंगे कि उन्हें कितनी सीटें मिलती हैं. यह INDI गठबंधन है जो कांग्रेस को खत्म करने की साजिश रच रहा है.”

बताते चलें, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के विधानसभा चुनावों में भारी हार के बाद आम चुनावों के लिए सीटों का आवंटन कांग्रेस के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है.