चमकी बुखार के इलाज़ के लिए अस्पताल का उद्घाटन

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) | बिहार के लोगों के लिए राजधानी पटना के IGIMS में चमकी बुखार एवं अन्य संक्रमित रोगों के जांच एवं रिसर्च हेतु मॉलिक्यूलर जेनेटिक लैब बन जाने से चिकित्सा सुविधा में बिहारवासियों को आसानी होगी. इसके साथ ही आज IGIMS पटना में 100 कमरे के इंटर्न गर्ल्स हॉस्टल का शिलान्यास भी किया गया है. पिछले साल मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से सैंकड़ों बच्चों ने अपनी जान गंवाई थी. इसको देखते हुए बिहार सरकार ने चमकी बुखार के पीड़ित बच्चों के इलाज़ के लिए 100 बेड का शिशु गहन चिकित्सा इकाई SKMCH मुजफ्फरपुर में बनाया है.

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने उपरोक्त के संबंध में जानकारी देते हुए ट्विटर के माध्यम से ट्वीट कर बताया है कि;

आज बड़ा ही सुखद दिन रहा जहाँ एक तरफ मुजफ्फरपुर के SKMCH में चमकी बुखार के पीड़ित बच्चों के इलाज़ के लिए अस्पताल का उद्घाटन हुआ वहीं पटना के IGIMS में चमकी बुखार एवं अन्य संक्रमित रोगों के जांच एवं रिसर्च हेतु मॉलिक्यूलर जेनेटिक लैब का भी उद्घाटन किया गया

 मा० मुख्यमंत्री जी, मा० उपमुख्यमंत्री जी, मा० मंत्रीगण की उपस्थिति और मेरी अध्यक्षता में 100 बेड का शिशु गहन चिकित्सा इकाई, SKMCH मुजफ्फरपुर में इंसेफ्लाइटिस वार्ड, सदर अस्पताल मुजफ्फरपुर में 100 बेड के मातृ-शिशु अस्पताल का लोकार्पण मुख्यमंत्री जी के कर कमलों द्वारा किया गया .

आज IGIMS पटना में 100 कमरे के इंटर्न गर्ल्स हॉस्टल का शिलान्यास, चमकी बुखार एवं अन्य संक्रमित रोगों के जांच एवं रिसर्च हेतु मॉलिक्यूलर जेनेटिक लैब का उद्घाटन एवं कोरोना जांच की क्षमता बढ़ाने के लिए ऑटोमेटेड RNA एक्सट्रैक्शन मशीन का वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से उद्घाटन किया .