तीसरे चरण में कुछ उम्मीदवार करोड़पति तो कुछ हैं बड़े क्रिमिनल

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बिहार विधान सभा चुनाव के दूसरे चरण की वोटिंग अब से कुछ देर पहले ख़त्म हो गई है. दूसरे चरण में 17 जिलों की 94 विधानसभा सीटों के लिए वोटिंग हुई. सभी जिलों में लोगों ने बढ़ चढ़ कर वोटिंग में भाग लिया. इसके बाद अब तीसरे चरण की बारी है. बिहार के 15 जिलों में तीसरे चरण में 78 सीटों के लिए होने वाले चुनाव में 30 फीसदी उम्मीदवार करोड़पति हैं और 31 फीसदी उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. जबकि इस चरण में उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 1.47 करोड़ रुपये है और 24 फीसदी उम्मीदवारों पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज है. तीसरे चरण के चुनाव को लेकर 7 नवंबर को मतदान होना है.

डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स ने सोमवार को जारी अध्ययन रिपोर्ट में ये जानकारी दी. तीसरे चरण की 78 सीटों पर कुल 1204 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं जिनमें 1195 उम्मीदवारों के द्वारा नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरान दी गयी जानकारी के अध्ययन के आधार पर यह रिपोर्ट जारी की गयी है. नौ उम्मीदवारों का शपथ पत्र स्पष्ट नहीं होने के कारण उन्हें अध्ययन में शामिल नहीं किया गया.

रिपोर्ट के अनुसार तीसरे चरण में 361 उम्मीदवार करोड़पति हैं. इनमें भाजपा के सर्वाधिक 34 में 31 (91 फीसदी) उम्मीदवार करोड़पति हैं, जबकि कांग्रेस के 25 में 17 ( 68 फीसदी), राजद के 44 में 35 (80 फीसदी), जदयू के 37 में 30 (81 फीसदी), लोजपा के 42 में 31 (4 फीसदी) और बसपा के 19 में 10 (53 फीसदी) उम्मीदवार करोड़पति हैं. वहीं, दलवार उम्मीदवारों के औसतन संपत्ति में कांग्रेस के 25 उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 2.57 करोड़, जदयू के 37 उम्मीदवारों की ओसत संपत्ति 3.31 करोड़, राजद के 44 उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 4.79 करोड़, लोजपा के 42 उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 3.14 करोड़, भाजपा के 34 उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 3.86 करोड़, बसपा के 19 उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 3.36 करोड़ रुपये है.