जातीय जनगणना: नीतीश के पत्र के जवाब में पीएम मोदी ने मिलने का समय नहीं बताया

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जातीय जनगणना पर बात करने के लिए लिखे गए पत्र का जवाब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को मिल गया है. अपने जबाव में मोदी ने पत्र मिलने की बात बताई है लेकिन नीतीश के पत्र में लिखित मुद्दे पर मुलाकात के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है.

बता दें, इस साल प्रस्तावित जनगणना को जाति के आधार पर कराने की मांग कई राजनीतिक पार्टियों द्वारा उठाई जा रही है. नीतीश कुमार भी इस मुद्दे को मजबूती से उठा रहे हैं. इस बावत उन्होंने पीएम मोदी को 3 अगस्त को पत्र लिखकर जातीय जनगणना के मुद्दे पर बात करने के लिए समय मांगा था.

समय मिलने का करेंगे इंतजार

पीएम मोदी द्वारा प्राप्त जवाब के आलोक में नीतीश ने कहा है कि जब प्रधानमंत्री जब उचित समझेंगे तब वो बातचीत के लिए समय देंगे. नीतीश सोमवार को जनता दरबार के बाद पत्रकारों से बातचीत के क्रम में यह बताया.

उन्होंने कहा कि पीएम ने उनके पत्र का जवाब तो दिया है लेकिन जब वो मिलने का समय देंगे तब उनसे मुलाकात होगी. उन्होंने कहा कि हमलोग अभी प्रधानमंत्री की तरफ से समय मिलने का इंतजार करेंगे. तब तक इसपर कुछ भी बोलना ठीक नहीं है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब प्रधानमंत्री की तरफ से पत्र आ ही गया है तो मिलने का समय भी मिलेगा ही. उस वक्त उनसे जातीय जनगणना के मुद्दे पर बात करेंगे. प्रधानमंत्री से बात करने के बाद ही पता चलेगा कि हमें खुद जातीय जनगणना कराना चाहिए या नहीं.

बिना बातचीत निर्णय लेना सही नहीं

नीतीश ने कहा कि जातीय जनगणना कराने का अंतिम फैसला तो केंद्र को ही लेना है और हम भी चाहेंगे कि यह काम केंद्रीय स्तर से ही हो जाए. इस मामले पर बिना बातचीत के निर्णय लेना सही नहीं है. उन्होंने कहा कि एक बार 2011 में हुआ लेकिन गड़बड़ी की वजह से वो प्रकाशित नहीं हो पाया था.

जातीय जनगणना सबके हित में

मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से कहा कि जातीय जनगणना सबके हित में है. इससे किसी का भी नुकसान नहीं बल्कि सबका फायदा ही होगा. उन्होंने कहा कि एक बार जातीय जनगणना हो जाएगा तो जातीय रूप से लोगों की संख्या का पता चल जाएगा.

उन्होंने कहा कि जातीय रूप से लोगों की संख्या मालूम होने से उनके संरक्षण और उत्थान के लिए बेहतर ढंग से काम करना आसान होगा. इन आंकड़ों से सभी के विकास के लिए सही तरीके से बातचीत करना और काम करना आसान हो जाएगा. नीतीश ने कहा कि सभी के मन में आज यही विचार है.