मैं चाहता था कि भाजपा का कोई व्यक्ति बिहार का सीएम बने: नीतीश कुमार

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | रविवार को एनडीए की मीटिंग हुई जिसमें नीतीश कुमार को सीएम पद के लिए नामित किया गया. इसके बाद नीतीश कुमार ने बिहार के राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया. लेकिन इसके पहले एनडीए की मीटिंग में एक नाटक जैसा माहौल हो गया.

एनडीए के नेता चुने जाने के बाद नीतीश कुमार ने कहा कि वह राज्य के मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहते. उन्होंने पदनाम स्वीकार कर लिया क्योंकि भाजपा ने जोर दिया था. वह चाहते थे कि भाजपा का कोई अगला मुख्यमंत्री बने.

इससे पहले, नीतीश कुमार एनडीए और जदयू विधानमंडल दलों के नेता के रूप में चुने गए थे.

इस मामले पर बीजेपी विधायक कृष्ण कुमार मंटू ने बताया कि नीतीश कुमार के इस प्रस्ताव पर सारे विधायक असहमत हो गए और सभी ने नीतीश कुमार के इस अनुरोध को सर्वसम्मति से खारिज कर दिया. इसके बाद नेताओं और विधायकों के कहने पर नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बनने के लिए तैयार हुए.

बता दें कि बिहार चुनाव में एनडीए को 126 सीटों पर जीत हासिल हुई है. इसमें बीजेपी सबसे बड़े दल के रूप में उभरा है. बीजेपी 74, जेडीयू 43, हम-4, वीआईपी-4 और एक निर्दलीय विधायक सीट जीतने में कामयाब हुआ है.