चिराग पैतृक संपत्ति के हकदार हो सकते हैं, राजनीतिक विरासत के नहीं – पशुपति

वैशाली (TBN – संजीत कुमार की रिपोर्ट) | चिराग पासवान अपने पिता स्वर्गीय रामविलास पासवान के पैतृक संपत्ति के हकदार हो सकते हैं पर उनके राजनीतिक विरासत का नहीं. यह बात केंद्रीय मंत्री और हाजीपुर के स्थानीय सांसद पशुपति कुमार पारस ने कही.

सोमवार को वैशाली के हाजीपुर सर्किट हाउस में प्रेस को संबोधित करते हुए सांसद पशुपति कुमार पारस ने अपने भतीजे और लोजपा सांसद चिराग पासवान पर जमकर हमला बोला.

केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस ने दलील देते हुए कहा कि स्वर्गीय रामविलास पासवान ने 1977 में ही अलौली विधानसभा से चुनाव लड़ाने की पेशकश कर उन्हें अपनी राजनीतिक विरासत सौंप दी थी.

उन्होंने कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव में भी स्वर्गीय रामविलास पासवान ने मुझे अपनी राजनीतिक विरासत सौंपते हुए हाजीपुर से चुनाव लड़ने को कहा था जबकि मैं स्वयं चुनाव लड़ना नहीं चाहता था.

चिराग को जमुई की जनता नकार चुकी है

केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस यहीं नहीं रुके. उन्होंने कहा कि चिराग पासवान बेवजह आशीर्वाद यात्रा के नाम पर घूम रहे हैं जबकि जमुई की जनता ने उन्हें नकार दिया है.

उन्होंने कहा कि चिराग पासवान के आशीर्वाद यात्रा का कोई मतलब नहीं है. स्वर्गीय राम विलास पासवान को ही लोग अपना नेता मानते थे. उन्होंने कहा कि रामविलास पासवान ने मुझे अपना राजनीतिक विरासत सौंपा है.