गृह सचिव ने किया वादा अब पैदल घर नहीं जायेंगे मजदूर

पटना / दिल्ली (TBN रिपोर्ट) | लॉकडाउन के कारण बाहरी राज्यों में फंसे हुए लोग अपने घर लौटना चाह रहे हैं और तमाम दिक्कतों का सामना करते हुए बड़ी संख्या में मजदूर अपने गृह राज्यों के लिए सड़क मार्ग से या रेल ट्रैक के जरिये पैदल ही घर लौट रहे हैं.

इसी क्रम में औरंगाबाद में रेल पटरी पर सोये 16 मजदूरों की रेल से कट कर मौत हो गयी थी. इस घटना के बाद सबक लेते हुए केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों और केंद्रशासित राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ वीडियो कान्फेंसिंग की थी जिसके बाद यह सर्कुलर भेजा है.

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने लिखा है कि राज्य सरकारें ऐसे मजदूरों पर कड़ी नजर रखें, जो रेलवे ट्रैक या सड़क मार्ग से घर के लिए निकले हों. अगर कहीं ऐसे मजदूर दिखते हैं या पाये जाते हैं तो उन्हें वहीं रोक कर आश्रय स्थलों पर रखा जाये. उनके खाने-पीने की मुकम्मल व्यवस्था तब तक की जाये, जब तक उनके जाने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन में व्यवस्था नहीं हो जाती है. उनकी काउंसेलिंग की जाये. उन्होंने कहा है कि पिछले दिनों औरंगाबाद में श्रमिकों के साथ जो दुर्घटना हुई, उसकी पुनरावृत्ति से बचने का यही उपाय है.