शहाबुद्दीन के निधन की हो सकती है उच्च स्तरीय जांच !

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| लगता है आरजेडी के दिवंगत नेता मो शहाबुद्दीन के निधन की उच्च स्तरीय जांच शुरू हो सकती है. शहाबुद्दीन के निधन की उच्चस्तरीय जांच के लिए सिवान आरजेडी के नेता परवेज आलम द्वारा केन्द्रीय गृह मंत्रालय को लिखे एक पत्र के आलोक में ऐसा लग रहा है.

बता दें, शहाबुद्दीन का निधन इस साल 1 मई को दिल्ली में इलाज के दौरान हो गया था. उसके बाद दिवंगत शहाबुद्दीन के समर्थकों द्वारा यह आरोप लगाया गया था कि उनके नेता को किसी साजिश के तहत उचित इलाज नहीं दिया गया था. उनके अनुसार उनकी हत्या कर दी गई थी और इसी कारण शहाबुद्दीन के निधन के मामले की जांच की मांग की गई थी.

इधर, सिवान जिला आरजेडी के एक नेता परवेज आलम ने शहाबुद्दीन के निधन के मामले की जांच के लिए केन्द्रीय गृह मंत्रालय को एक पत्र लिखा. इस पत्र के जवाब में मंत्रालय ने यह सूचना दी कि उनके पत्र को गृह मंत्रालय में तैनात समन्वय और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग की संयुक्त सचिव सहेली घोष रॉय को फॉरवर्ड कर दिया गया है.

जानकारी के मुताबिक, परवेज आलम ने अपने पत्र में लिखा है कि उनके दिवंगत नेता शहाबुद्दीन का निधन एक सोची समझी गहरी साजिश का परिणाम है. इस मामले में संदेह इसलिए पैदा होता है क्योंकि शहाबुद्दीन जैसे एक बड़े कद के नेता का इलाज एम्स में नहीं कराया गया. परवेज ने इसी को लेकर जांच की मांग की है.

Also Read | मैं शेर संरक्षण के प्रति सभी उत्साही लोगों को बधाई देता हूं – नरेंद्र मोदी

परवेज आलम ने पत्र में पूछा है कि वर्षों तक सांसद व विधायक रहे एक व्यक्ति का जेल मैनुअल में एम्स में इलाज कराना नहीं दिया गया है क्या?

परवेज आलम की मानें तो शहाबुद्दीन के निधन से बिहार सहित देश भर के विभिन्न हिस्सों में अल्पसंख्यक समुदाय की जनता काफी दुखी है. इसलिए मामले की जांच होनी चाहिए.