हरियाणा ने बिहार को वापस लौटाई मदद की राशि

पटना (TBN रिपोर्ट) | नीतीश सरकार के द्वारा लॉकडाउन में बिहार के बाहरी राज्यों में फसे हुए मजदूरों को निकालने के लिए हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं. इसी क्रम में हरियाणा में फंसे प्रवासी मजदूरों को लेकर बिहार सरकार ने हरियाणा सरकार को चिट्ठी लिखी थी और मदद की एवज में राशि भेजी थी. लेकिन हरियाणा सरकार के द्वारा बिहार की सरकार की राशि को वापस कर दिया है.

इस सम्बन्ध में हरियाणा मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सीएम नीतीश को लिखे पत्र में कहा है कि आप के अधिकारियों का पत्र मिला जिसमें आपने लॉक डाउन के चलते हरियाणा में फंसे बिहार के नागरिकों के बारे में चिंता व्यक्त की है और राज्य सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं की एवज में धनराशि देने का प्रस्ताव दिया है .

पत्र में हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि आपकी चिंता उचित है और प्रशंसनीय भी हैं लेकिन मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि हमारे यहां रह रहे प्रत्येक भारतीय नागरिक उतने ही हमारे हैं जितने उन राज्यों के हैं. हम इस बात को समझते हैं कि हरियाणा की आर्थिक, औद्योगिक और कृषि क्षेत्र की उन्नति में उनका भी बहुत योगदान है. हरियाणा में आकर काम करने वाला हर नागरिक चाहे कहीं भी पैदा हुआ हो आज हमारे लिए हरियाणवी से कम नहीं है.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आगे कहा है कि हमने सभी को अपनों की तरह रखा है और उनका पूरा ख्याल किया है. हरियाणा सरकार के माध्यम से उन्हें हर संभव मदद दी जा रही है .हमारे यहां हर रोज उद्योग खुल रहे हैं और अर्थव्यवस्था वापस सामान्य स्तर पर आ रही है. जब भी वे अपने परिवार वालों से मिलकर वापस आना चाहें तो उनका स्वागत है . इस प्रस्ताव के लिए हम आपकी सरकार के आभारी हैं लेकिन यह राशि अस्वीकार कर इसे वापस करने को विवश हैं.