मुकेश सहनी नीतीश कैबिनेट से बर्खास्त, सीएम की सिफारिश पर राज्यपाल ने हटाया

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| मुकेश सहनी को मंत्री पद से बर्खास्त कर (Mukesh Sahni sacked from Nitish’s cabinet) दिया गया है. रविवार शाम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) ने मुकेश सहनी (Mukesh Sahni) को मंत्री पद से हटाने की सिफारिश की थी.

सीएम नीतीश ने राज्यपाल फागू चौहान (Governor Fagu Chauhan) को पशुपालन और मत्स्य पालन मंत्री मुकेश सहनी (Animal Husbandry and Fisheries Minister Mukesh Sahni) को उनके पद से हटाने की सिफारिश की थी. जिसके बाद नीतीश सरकार की कैबिनेट से मुकेश सहनी को छुट्टी दे दी गई है.

आपको बता दें कि बुधवार शाम को मुकेश सहनी के सभी विधायक उन्हें छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे. विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के तीन विधायकों राजू सिंह, सवर्ण सिंह और मिश्री लाल यादव ने विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा को दलबदल विरोधी कानून के तहत वीआईपी पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल होने और विधानसभा में बीजेपी के साथ विलय कराने के लिए पत्र सौंपा था.

मुकेश सहनी अपने विधायकों के पार्टी छोड़ने के बाद अकेले रह गए थे, जिसके बाद सहयोगी भाजपा द्वारा उन्हें कैबिनेट से हटाने की मांग की गई थी. इस पर मुकेश सहनी ने कहा था कि यह मुख्यमंत्री पर निर्भर करता है कि वह उन्हें मंत्री बनाए रखते हैं या हटाते हैं.

बिहार विधानसभा चुनाव में वीआईपी टिकट पर जीते 4 प्रत्याशी

बताते चलें, अक्टूबर-नवंबर 2020 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में वीआईपी टिकट पर चार उम्मीदवार विधायक चुने गए थे. हाल ही में मुजफ्फरपुर की बोचाहां सीट से वीआईपी विधायक मुसाफिर पासवान का निधन हो गया थे, जिसके बाद यह सीट खाली हो गई.

यह भी पढ़ें| फिर से शून्य पर पहुंचा ‘सन ऑफ मल्लाह’, इश्तहार देकर मारी थी राजनीति में एंट्री

यहां होने वाले उपचुनाव को लेकर बीजेपी और मुकेश सहनी के बीच खींचतान चल रही थी. मुकेश सहनी ने इस पर अपना दावा पेश करते हुए यहां से अपना उम्मीदवार उतारने की बात कही थी. वहीं, भाजपा ने कहा था कि उसने यह सीट अपने कोटे से वीआईपी को दी थी, इसलिए अब वह यहां अपना उम्मीदवार उतारेगी.