लोगों के साथ छल कर रही डबल इंजन की सरकार – एजाज अहमद

पटना (TBN रिपोर्ट) | लॉकडाउन के दौरान बिहार लौटकर आने वाले मजदूरों को बिहार में रहकर ही रोजगार दिलाने के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के वादों पर सवाल उठाते हुए जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक (जाप) के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद ने कहा है कि कोरोना जैसी महामारी के समय बिहार लौटने वाले मजदूरों को बिहार में ही रोजगार देने का वादा करने वाली नीतीश सरकार अपने वादे पर खरा नहीं उतरी और इनका यह दावा खोखला और हवा- हवाई साबित हुआ.

एजाज अहमद ने कहा है कि अब मजदूर और युवा मजबूरन फिर से अपना और परिवार के भरण-पोषण के लिए पलायन करने को मजबूर हो रहे हैं , जबकि कोरोना जैसी महामारी पूरे राष्ट्र में विकराल रूप धारण किए हुए हैं ,लेकिन उसके बावजूद भी डबल इंजन सरकार इन मजदूरों के पलायन को रोकने के लिए कोई व्यवस्था नहीं कर पा रही है और इनके जान के साथ खिलवाड़ कर रही है और सारी मानवीय संवेदनाएं ताक पर रख चुकी है.

एजाज ने आगे कहा कि मजदूरों के रोजगार और उनके परिवार के भरण-पोषण के लिए राज्य सरकार की ओर से आर्थिक सहायता नहीं दी जा रही है, जिस कारण मजबूरन दोबारा दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, गुजरात जैसे अन्य राज्यों के लिए मजदूर और युवा बिहार से दोबारा पलायन कर रहे हैं ,जो रेलवे द्वारा ट्रेनों की बुकिंग के आंकड़ा से स्पष्ट होता है कि सभी ट्रेनें बिहार से दूसरों राज्यों के लिए जा रही है उनकी सभी सीटें पूरी तरह से फूल है. और उन राज्यों की ओर इन्हें दोबारा लौटना पड़ रहा है जहां से वह कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए अपने घर की ओर सुरक्षा के लिहाज से वापस लौटे थे. और इस तरह की आपाधापी में सैकड़ों लोगों की जाने काल के गाल में समा गई थी.

आगे उन्होंने कहा कि उस समय भी केंद्र और राज्य सरकार ने इन मजदूरों के आने के लिए कोई व्यवस्था नहीं की थी, और जो वादा किया किया गया था कि बिहार में ही इन मजदूरों के लिए रोजगार के साधन उपलब्ध कराए जाएंगे और उन्हें आर्थिक सहायता दी जाएगी उस दावे में कहीं दम तथा हकीकत नहीं दिख रहा है.तभी मजबूरीवश मजदूर और युवा रोजगार के लिए उन राज्यों का रुख कर रहे हैं, जिन राज्यों से ये लौटे थे.

एजाज ने आगे कहा कि बिहार में डबल इंजन की सरकार चुनाव कराने की प्रति जितना गंभीर है, अगर उतनी ही गंभीरता कोरोना जैसी संकट में आए हुए मजदूरों के रोजगार के लिए और कोरोना जैसी बीमारी के रोकथाम के लिए उपाय की होती तो आज दोबारा मजदूरों और युवाओं को बिहार से दूसरे राज्यों में जाने के लिए मजबूर नहीं होना पड़ता.

जाप के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव ने कहा कि लोकतंत्र के नाम पर सिर्फ चुनाव जीतने के लिए नारे और हथकंडे अपनाकर डबल इंजन की सरकार बिहार के लोगों के साथ छल कर रही है, और इस मामले पर कहीं से भी गंभीर नहीं है जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव के नेतृत्व में मजदूरों के रोजगार और उन वादों को पूरा करवाने के लिए डबल इंजन सरकार के खिलाफ एक धारदार और जोरदार जन आंदोलन खड़ा करेगी और इसके खिलाफ लोगों को एकजुट होकर वादाखिलाफी करने वाली सरकार के खिलाफ उठ खड़ा होने का आह्वान करती हैं ये सरकार धोखा है बिहार बचा लो मौका है.