बाहर से आ रहे मजदूरों को क्वारंटाइन करने में सरकार कर रही है आनाकानी – RJD

पटना (TBN रिपोर्ट) | बिहार में क्वारंटाइन केन्द्रों में कुव्यवस्था को लेकर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के प्रदेश महासचिव भाई अरुण कुमार ने प्रेस बयान जारी कर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आग्रह किया है कि जिस प्रकार प्रवासी बिहारियों का आगमन पटना एवं बिहार के विभिन्न जिलों में हो रहा है. उस प्रकार की क्वारंटाइन केन्द्रों में लोगों को रहने की सुविधा नहीं है.

कोरोना के इस आपातकाल में क्वारंटाइन सेंटर एवं आइसोलेशन वार्ड की अति आवश्यकता है. राज्य सरकार ने जो भी क्वारंटाइन सेंटर एवं आइसोलेशन वार्डों का निर्माण करवाया है वह आधी अधूरी एवं अनुपयोगी है.

अरुण कुमार ने कहा कि जिस प्रकार राज्य सरकार ने सिख अतिथियों की सेवा के लिए टेंट सिटी का निर्माण करवाया था उसी तर्ज पर क्वारंटाइन केन्द्रों एवं आइसोलेशन वार्ड का निर्माण कर लोगों को आइसोलेट करने का काम करना चाहिए एवं कोरोना पीड़ितों का इलाज करवाने का काम करें.  

बिहार की नीतीश सरकार पर आरोप लगाते हुए अरुण कुमार कहा कि बाहर से आ रहे मजदूरों को सरकार क्वारंटाइन करने में आनाकानी कर रही है और उनको भगवान भरोसे छोड़ दे रही है क्योंकि क्वारंटाइन करने वाले मजदूरों को सरकार को पैसा देना पड़ सकता है तथा बाहर से आए लोगों का कोरोना जांच भी ठीक ढंग से नहीं हो रहा है.

ऐसा लग रहा है कि सरकार के पास कोरोना जांच संबंधी किट भी पर्याप्त मात्रा में नहीं हैं.  जिसके कारण कोरोना जांच में शिथिलता आ गई है इसके कारण लोग जांच के लिए दर-दर भटक रहे हैं. सरकार को चाहिए कि प्रत्येक जिला में पर्याप्त संख्या में जांच किट उपलब्ध हो.  जो भी लोग जांच के लिए आ रहे हैं उनकी जांच करवाई जाए तथा बाहर से आ रहे लोगों के लिए  स्टेशन पर ही कोरोना जांच की व्यवस्था की जाए जिससे इस महामारी से बचाव किया जा सके.