गांधी सेतु मेंटेनेंस के नाम पर 1000 करोड़ का घोटाला – प्रेमचंद्र

 

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट)- कांग्रेस एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा के द्वारा गांधी सेतु मेंटेनेंस को लेकर लगाए  गए घोटाले के आरोपों की पुष्टि भारत के महालेखाकार ने भी कर दी है. अपने द्वारा लगाए गए आरोपों की पुष्टि होने के बाद कांग्रेस एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि “सीएम नीतीश कुमार बिहार सरकार में मंत्री नंदकिशोर यादव को बर्खास्त करें. इसके साथ ही उन सभी लोगों को भी बर्खास्त किया जाए जो गांधी सेतु के नए रूप से निर्माण में कार्य कर रहे हैं वे सभी घोटाले के आरोपी हैं”.

गांधी सेतु के मेंटेनेंस के नाम पर हो रहे गड़बड़ी को लेकर कांग्रेस एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा ” मैंने लगातार सदन से लेकर केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी से गांधी सेतु की मेंटेनेंस में 1000 करोड़ रुपए का घोटाले का आरोप लगाया था जो सही साबित हुआ है. इस आरोप की पुष्टि भारत के महालेखाकार ने कर दी है. सीएम नीतीश कुमार बिहार सरकार में मंत्री नंदकिशोर यादव को बर्खास्त करें. साथ उन तमाम लोगों को बर्खास्त किया जाए जो गांधी सेतु के नए रूप से निर्माण में कार्य कर रहे हैं”

कांग्रेस एमएलसी ने कहा कि “मैंने पिछले साल और इस साल सदन में हो रहे गांधी सेतु के मेंटेनेंस के नाम पर हो रहे गड़बड़ी को लेकर मैंने कहा था कि घटिया स्टील का निर्माण किया जा रहा है. लेकिन इस बात को मंत्री नंद किशोर यादव झूठा करार दे रहे थे, लेकिन सीएजी रिपोर्ट से आज मेरा आरोप को सही साबित किया है. इस बात का जवाब नंदकिशोर को देना होगा. जो एग्रीमेंट हुआ था उसको उल्लंघन हो रहा है. यह सब जानते हुए भी घटिया सामानों का इस्तेमाल किया जा रहा है”.

प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि “जो पहले अधिकारी इस काम में लगे थे और घटिया मेंटेनेंस का विरोध कर रहे थे. उन तीन अधिकारियों को हटा दिया गया. मैंने सदन में उठाया तो सदन में लोग इसको मजाक उड़ाकर निकल गए. सरकार जान बूझकर लोगों के जान खतरे में डाल रही है. जो खराब हिस्से को तीन महीने में गिराना था उसको एक बार में ही गिरा दिया गया. यह पहले ही तय था कि क्षतिग्रस्त हिस्से को गंगा नदी में नहीं गिराना है. इसको लेकर 300 करोड़ का घोटाला किया गया”.