बिहार विधानसभा चुनाव में पहली बार कुछ ऐसा होगा जो पहले कभी नहीं हुआ

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | एक तरफ जहां कोरोना के बीच देश में पहला विधानसभा चुनाव होने जा रहा है वहीं दूसरी तरफ बिहार विधान सभा चुनाव में इस बार कुछ नया होने जा रहा है. इस बार विधानसभा चुनाव में एक ट्रांसजेंडर को पीठासीन पदाधिकारी बनाया जायेगा. उस ट्रांसजेंडर का नाम है मोनिका दास. मोनिका देश की पहली ट्रांसजेंडर है जिन्हें मतदान कार्य के लिए पीठासीन पदाधिकारी बनाया जा रहा है.

आपको बता दें कि पटना निवासी मोनिका दास देश की पहली ट्रांसजेंडर बैंकर भी है. पटना विश्वविद्यालय से लॉ में गोल्ड मैडल पाने वाली मोनिका दास सौंदर्य प्रतियोगिता में ‘फेस ऑफ़ पटना’ भी रह चुकी है. वर्तमान में वह बैंक की ऑफिसर है.

पीठासीन पदाधिकारी के तौर पर मोनिका दास एक बूथ की पूरी जिम्मेदारी संभालेंगी. यानि मतदान कराने से लेकर मॉनिटरिंग का काम करेनेगी. पीठासीन अधिकारी के तौर पर 8 अक्टूबर को प्रशिक्षण दिया जायेगा. इससे पहले पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में ट्रांसजेंडर रिया सरकार को पोलिंग अफसर बनाया जा चुका है. रिया सरकारी स्कूल शिक्षिका है. बिहार विधानसभा में पहली बार किसी ट्रांसजेंडर पीठासीन पदाधिकारी बनाया जा रहा है. इससे ट्रांसजेंडर समुदाय में ख़ुशी की लहर है.

बतातें चले कि सुप्रीम कोर्ट से ट्रांसजेंडर को तीसरे लिंग के रूप में मान्यता मिलने के बाद उन्हें समाज की मुख्यधारा से जोड़ने का प्रयास जारी है. राज्य में ट्रांसजेंडर को मुख्यधारा से जोड़ने के लिए किन्नर कल्याण बोर्ड बनाया जा चुका है. इसके अलावा किन्नर महोत्सव भी मनाया जाता है. ट्रांसजेंडर समुदाय को समाज की मुख्यधारा से जुड़ने के लिए यह चुनाव आयोग की सकारात्मक पहल है. वैसे ट्रांसजेंडर जो मुख्यधारा में शामिल नहीं हैं, उन्हें प्रेरणा मिलेगी.