बिहार में सभी को निश्चित तौर पर मिलेगा रोजगार

पटना (TBN रिपोर्ट) | लॉकडाउन के बाद बिहार लौट रहे प्रवासियों को राज्य में ही रोजगार उपलब्ध कराने के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ऐलान के बाद युवा जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के प्रदेश प्रवक्ता ओमप्रकाश सिंह सेतु ने मुख्यमंत्री द्वारा प्रवासियों को बिहार में ही काम देने की घोषणा का स्वागत किया है.   

प्रदेश प्रवक्ता ओमप्रकाश सिंह सेतु ने कहा कि राज्य के मुखिया नीतीश कुमार पिछले तीन दिनों से प्रखंडों में बनाये गए क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले प्रवासियों से बात कर रहे हैं. उन्होंने प्रवासियों से आग्रह किया है कि लोग बिहार में रहें और अपने श्रमबल और स्किल का यहीं उपयोग करें. प्रवासी बिहार में ही रहकर बिहार के आर्थिक-सामाजिक विकास में सहभागी बन सकते है. सरकार हर हाथ को रोजगार और देश के हर नागरिक की थाली में बिहार का व्यंजन मुहैया कराने के लिए कटिबद्ध है. इसके लिए बिहार के लोगों की सहभागिता जरूरी है.

युवा जदयू प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ बातचीत में अलग-अलग हुनर रखने अधिकांश प्रवासी वाले हैं कह रहे है कि सरकार यही रोजगार देगी तो वे परदेश क्यों जाएंगे. सेतु ने कहा कि अबतक सिर्फ मनरेगा से करीब साढ़े बारह लाख लोग काम कर रहे हैं. अकेले पटना जिला में बनाये गए क़वारन्टीन केंद्रों पर 40 हजार से अधिक लोगों के जॉब कार्ड बनाये गए हैं. इसके पहले सिर्फ पटना में करीब साढ़े छह लाख लोगों को जॉब कार्ड दिए गए हैं. मनरेगा के अलावा राज्य में प्रवासियों के रोजगार के लिये भी विभागवार योजनाएं बन रही हैं. राज्य में रोजगार की अधिक अधिक और भी रोजगार की संभावना देखी जा रही है.

ओमप्रकाश सिंह सेतु ने कहा कि राज्य के बाहर से आये लोगों में हीरा तराशने वाले, रेडिमेड कपड़े बनाने वाले, होटलों में बनने वाले खाने के जानकार शेफ के अलावा दूसरे कई हुनर जानने वाले भाई है. सेतु ने कहा कि जब खुद नीतीश कुमार ने वादा किया है तो हर हाथ को रोजगार मिलेगा तो निश्चित तौर पर रोजगार मिलेगा. उन्होंने नीतीश कुमार इस कार्य के लिए धन्यवाद देते हुए आभार जताया है.