पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय हो सकते हैं JDU में शामिल

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में बहुत सारे नए चेहरे सामने आये, जिसमें से एक बिहार के पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय भी थे. रिटायरमेंट से पांच महीने VRS लेने वाले बिहार के पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय ने यह इशारा कर दिया था कि राजनीति से उनकी दूरी अब बहुत जल्द ही ख़त्म हो जाएगी. गुप्तेश्वर पांडेय ने एक इंटरव्यू में कहा था कि मुझे करीब 14 जगहों से चुनाव लड़ने का ऑफर है, लेकिन मेने अभी राजनीति में जाने को लेकर फैसला नहीं किया है. जिसके बाद खबर आ रही है कि पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय आज JDU का हाथ थमने वाले है.

आपको बता दें कि अभी से कुछ देर पहले ही गुप्तेश्वर पांडेय JDU ऑफिस पहुंचे है. नीतीश कुमार ने पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को जेडीयू दफ्तर में बुलाया है. जानकारी के मुताबिक गुप्तेश्वर पांडेय वहीं आज जेडीयू में शामिल होंगे. इससे पहले गुप्तेश्वर पांडेय ने यह बताया था कि उन्हें कई पार्टियों से ऑफर आये है. उन्होंने दवा किया था कि बिहार की जनता उनको बहुत प्यार करती है और वो जहां से लड़ेंगे जीत जाएंगे. लेकिन उस वक्त तक उन्होंने फैसला नहीं लिया था कि उन्हें पॉलिटिक्स ज्वाइन करना चाइये या नहीं. लेकिन आज सारी अटकलों को विराम लगा देते हुए उनके जेडीयू ज्वाइन करने की पूरी संभावना है.

गौरतलब है कि इससे पहले पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की खूब तारीफ की थी. उन्होंने कहा था कि मुख्यमंत्री ने बिहार के DGP के तौर पर मुझे खुलकर काम करने का मौका दिया. मुख्यमंत्री ने उन्हें योग्य समझा, तभी तो बिहार की 12 करोड़ की जनता की सेवा का मौका दिया. पूर्व DGP ने नीतीश कुमार के सुशासन की जमकर तारीफ की. कोरोना संकट के दौरान सरकार के काम-काज की चर्चा करते हुए कहा कि इस दौर में बिहार सरकार ने बेहतरीन काम किया. इस दौरान पुलिस विभाग को काम करने की पूरी आजादी दी गयी. पुलिस भी सरकार के भरोसे पर खरी उतरी और कोरोना कंट्रोल में बड़ी भूमिका अदा की. सरकार की स्पष्ट नीतियों के चलते यह संभव हो सका.

अब देखना है कि गुप्तेश्वर पांडे आज शनिवार को जदयू जॉइन करते हैं या नहीं. और यदि जदयू जॉइन करते हैं तो उन्हें किस सीट से लड़ने को मिलता है. फिर भी, चाहे जो भी सीट मिले लड़ने को, देखना दिलचस्प होगा कि क्या उनका यह दावा कि वे किसी भी सीट से जीत सकते हैं, सत्य होता है या नहीं.