पूरा वेतन मिलेगा संविदाकर्मियों को

पटना (TBN रिपोर्ट) | देशभर में लॉकडाउन घोषित होने के बाद से ही लोगों से घर में रहने की अपील की जा रही है. जिसके बाद से प्राइवेट और सरकारी दोनों सेवाओं में कार्यरत कर्मचारी लॉकडाउन के दौरान घर पर ही रहे हैं. लेकिन बिहार के सरकारी दफ्तरों में काम कर रहे संविदाकर्मियों के लिए एक राहत भरी खबर नीतीश सरकार के द्वारा सामने आ रही है.

खबर के अनुसार राज्य सरकार ने संविदाकर्मियों की हाजिरी के रजिस्टर का अनुसरण किये बिना ही मार्च और अप्रैल का पूरा वेतन देने का फैसला किया है.

आज हो रही कैबिनेट की बैठक में बिहार सरकार ने ये तय किया है कि 5 लाख से ज्यादा संविदाकर्मियों को मार्च और अप्रैल महीने का पूरा वेतन दिया जाये. गौरतलब है कि मार्च में लॉकडाउन के एलान से पहले से ही बिहार सरकार ने सरकारी दफ्तरों में कर्मचारियों की आवाजाही पर बंदिशें लगायी थीं.

कोरोना संक्रमण से बचाव की दृष्टि से  सरकार ने सारे दफ्तरों में आने वाले सभी कर्मचारियों के एक साथ आने पर रोक लगा दी थी और उन्हें बारी-बारी से दफ्तर में बुलाया जा रहा था. वहीं सरकारी दफ्तरों में ट्रेन-बस से आने वाले कर्मचारियों को दफ्तर आने से मना कर दिया गया था. ऐसे में ज्यादातर संविदाकर्मी दफ्तर आकर हाजिरी नहीं बना पाये.

ऐसे में बिहार सरकार ने संविदाकर्मियों की हाजिरी के रजिस्टर देखे बिना ही मार्च और अप्रैल का पूरा वेतन देने का फैसला लिया है. वही इसको लेकर केंद्र सरकार ने पहले ही घोषणा की थी कि लॉकडाउन के दौरान किसी भी कर्मचारी के वेतन में कटौती नहीं की जाएगी.