मीठापुर महुली हॉल्ट के बीच फोरलेन का निर्माण

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) | बिहार सरकार मछलीपालकों के हित को ध्यान में रखते हुए राज्य के मछुआरों का डेटाबेस बना रही है. इसके बारे में बताते हुए जनता दल यूनाइटेड (जदयू ) के वरिष्ठ नेता व राज्य के भवन निर्माण मंत्री डॉ. अशोक चौधरी ने कहा है कि मछलीपालकों का डेटाबेस बनाकर उनको विभिन्न योजनाओं से जोड़ा जायेगा. इस डेटाबेस के बनने से मछुआरे भाइयों को बीमा, आवास, एवं अनुदान मिलना सरल जाएगा.

जनता को घंटों तक लगने वाले जाम से मुक्ति दिलाने के लिए राज्य सरकार के द्वारा मीठापुर महुली हॉल्ट के बीच 816.18 करोड़ की लागत से फोरलेन का निर्माण किया जा रहा है. इसके बारे में बताते हुए भवन निर्माण मंत्री ने कहा है कि मीठापुर महुली के बीच फोरलेन बनने से NH-83, NH-82, NH-31 NH-30 से कनेक्टिविटी मिलेगी और पटना से राजगीर व गया आने जाने वालों को जाम से मुक्ति दिलाएगी. उन्नत सड़कें समृद्धि का रास्ता खोलती हैं.

मंत्री डॉ. अशोक चौधरी ने जानकारी साझा करते हुए बताया कि राज्य में डीजल या बिजली से कारखाना चलाने पर 20 से कम कर्मचारियों के लिए अब श्रम कानून नहीं लगेगा. इसके साथ ही बिना डीजल या बिजली के कारखाना चलाने पर 40 से कम कर्मचारियों के लिए भी अब श्रम कानून नहीं लगेगा.

आगे उन्होंने कहा कि कारखानों के निबंधन में सुविधा और सरलता बढ़ाने से रोजगार आसान होगा और निवेश भी बढ़ेगा. स्वरोजगार और निवेश को बढ़ावा देने के लिये हमारी सरकार संकल्पित है. भवन निर्माण मंत्री डॉ. अशोक चौधरी ने कहा है कि आप भी स्वरोजगार अपनाएँ एवं अपने साथ औरों को भी रोजगार दें.