वैसी स्थिति में हम सभी 243 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए तैयार: काँग्रेस

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बिहार चुनाव के लिए कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी के प्रमुख अविनाश पांडे ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि अगर महागठबंधन (Grand Alliance) के भीतर सम्मानजनक सीट-साझाकरण समझौता नहीं हुआ तो पार्टी सभी 243 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए तैयार है. पांडे, जो पटना के दो दिवसीय दौरे पर हैं, ने कहा कि कांग्रेस अपने सभी गठबंधन सहयोगियों को सम्मान दे रही है.

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “बिहार में राजद एक बड़ी पार्टी है. कांग्रेस महागठबंधन में तेजस्वी को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार मानने को तैयार है, लेकिन एक सम्मानजनक समझौते की शर्त पर”.

उन्होंने कहा कि अगर बिहार में कोई समझौता नहीं होता है, तो हम सभी 243 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं. उन्होंने बताया कि वैसे भी हमारा आधार दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है और लोगों का विश्वास कांग्रेस में लौट आया है.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपने सहयोगियों के समर्थन से राज्य में एनडीए सरकार को सत्ता से बाहर करेगी. बता दें कि चुनाव आयोग ने घोषणा की कि बिहार विधानसभा चुनाव तीन चरणों में होंगे – 28 अक्टूबर, और 3 नवंबर और 7. मतों की गिनती 10 नवंबर को होगी.

2015 के विधानसभा चुनावों में महागठबंधन के बैनर तले जदयू, राजद और कांग्रेस ने मिलकर चुनाव लड़ा था. दूसरी ओर, भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए ने लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) और अन्य सहयोगियों के साथ चुनाव लड़ा था. 80 सीट जीतने वाली पार्टी राजद उस चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी, उसके बाद जदयू (71) और भाजपा (53) थी.

हालांकि, भाजपा को सबसे बड़ा वोट शेयर (24.42 प्रतिशत) मिला था , उसके बाद राजद को 18.35 प्रतिशत और जदयू (16.83 प्रतिशत) को वोट मिला. चुनावों के बाद, हालांकि, 2017 में जेडीयू और आरजेडी के बीच दरार पैदा हुई, जिसके कारण मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रिश्तों को तोड़ दिया और बिहार में सत्ता बनाए रखने के लिए बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए के साथ संबंधों को फिर से जोड़ा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.