वर्चुअल शोक सभा में दी स्व० टंडन एवं स्व० सुनील सिंह को भावभीनी श्रद्धांजलि

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बुधवार को बिहार प्रदेश बीजेपी ऑफिस में एक वर्चुअल शोक सभा का आयोजन किया गया. इस वर्चुअल शोक सभा में मध्यप्रदेश के राज्यपाल स्व. लालजी टंडन एवं बिहार विधान परिषद के सदस्य स्व. सुनील कुमार सिंह को श्रद्धांजलि दी गई.

इस वर्चुअल शोक सभा को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि यूपी में भाजपा के वर्तमान स्वरूप में स्व. लालजी टंडन का महत्वपूर्ण योगदान है. उन्होंने बताया कि स्व० टंडन अटल बिहारी वाजपेयी के अनन्य सहयोगी थे और अपने बिहार के राज्यपाल के पद पर रहते हुए उन्होंने अनेक उल्लेखनीय कार्य किया.

सुशील मोदी ने एमएलसी स्व० सुनील कुमार सिंह के बारे में कहा कि वे जमीन से जुड़े नेता थे जों एक पंचायत के मुखिया और प्रखंड के उप प्रमुख से अपनी राजनीति यात्रा शुरू कर विधान परिषद तक पहुंचे और प्रदेश की राजनीति में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया.

मोदी ने स्व० लालजी टंडन की ‘अनकहा लखनऊ’ पुस्तक की चर्चा की तथा कहा कि उन्हें लखनऊ से बहुत प्यार था. साथ ही साहित्य, काव्य में भी उनकी काफी रूचि थी. स्व० टंडन ने भारतीय साहित्य एवं संस्कृति का भी गहन अध्ययन किया था. अपने बिहार के राज्यपाल पद पर आसीन रहते हुए उन्होंने अपना जन्मदिन दिव्यांग बच्चों के साथ मनाया था जो औरों के लिए एक आदर्श था. राज्यपाल के रूप में संस्कृत में शास्त्रार्थ, किसान मेला, दीक्षांत समारोह को नियमित करने जैसे अनेक उल्लेखनीय कार्य उन्होंने किया.

वहीं, भाजपा के प्रदेश संगठन मंत्री नागेन्द्र जी ने स्व. लालजी टंडन से जुड़े अपने संस्मरणों के हवाले से कहा लखनऊ में उन्हें ‘विकास पुरुष’ और ‘बाबूजी’ के उपनाम से जाना जाता था। उनका स्थान भरा नहीं जा सकता है. प्रदेश अध्यक्ष डा. संजय जायसवाल, कृषि मंत्री डा. प्रेम कुमार, पथ निर्माण मंत्री नन्दकिशोर यादव, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय आदि ने भी शोक सभा को सम्बोधित करते हुए दोनों दिवंगत आत्माओं को अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि दी.