हड़ताली शिक्षकों के परिजनों को 4-4 लाख का मुआवजा

पटना (TBN रिपोर्ट) :- बिहार के हड़ताली नियोजित शिक्षकों के परिजनों के लिए एक राहत भरी खबर आ रही हैं. खबर के अनुसार, बिहार में हड़ताल की अवधि में बीमारी और आर्थिक तंगी के कारण 30 शिक्षकों की मौत हो गयी थी.

अब राज्य सरकार ने हड़ताल की अवधि में हुई नियोजित शिक्षकों की मौत को लेकर मृतक नियोजित शिक्षक के परिजनों को सरकार की ओर से 4-4 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है. शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन वर्मा ने अधिकारियों से बातचीत के बाद यह बड़ा निर्णय लेते हुए कहा है कि, “मृतक नियोजित शिक्षक के परिजनों को सरकार 4-4 लाख रुपये आर्थिक मदद के रूप में देगी”.

देशभर में कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच बिहार में नियोजित शिक्षकों की हड़ताल जारी रही. बिहार सरकार को शिक्षक संघ के द्वारा त्राहिमाम संदेश देते हुए एक पत्र भेजा गया था.

पत्र में 30 शिक्षकों की मौत की एक लिस्ट भी सरकार को सौंपी गई. इस बारे में सरकार पर निशाना साधते हुए बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के महासचिव और पूर्व सांसद शत्रुघ्न प्रसाद सिंह ने कहा था कि, “बिहार में अब तक हड़ताल के दौरान 30 शिक्षकों की मौत हो चुकी है लेकिन सरकार की नींद कब टूटेगी यह सवाल अभी भी बना हुआ है”.

उस पत्र के बाद बिहार सरकार की ओर से अब यह बड़ा फैसला आया है कि मृतक नियोजित शिक्षक के परिजनों को सरकार की ओर से 4-4 लाख रुपये आर्थिक मदद के रूप में दिए जायेंगे.