बिहार की बेटी के लिए बढ़े मदद को हाथ

पटना (TBN रिपोर्ट)  | बिहार के दरभंगा के सिरहुल्ली गांव की रहने वाली ज्योति ने लॉकडाउन के दौरान अपने बीमार पिता को साइकिल पर बिठाकर गुड़गांव से दरभंगा तक लगभग 1200 किलोमीटर का सफर तय किया.

जिसके बाद ज्योति की हिम्मत के चर्चे अखबार से लेकर सोशल मीडिया तक की सुर्खियां बन गए. यहाँ तक कि ज्योति के बुलंद हौंसलों की दास्तान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप ने पढ़ी तो उन्होंने इसकी काफी सराहना की.

ज्योति की हिम्मत और बहादुरी की चर्चा विश्वभर में होने के बाद से उसकी मदद के लिये कई सामाजिक संस्थाएं आगे आयी हैं. इसके साथ ही  ज्योति को भारतीय साइकिलिंग फेडरेशन ने न्योता दिया है. वहीं बिहार के मंत्री महेश्वर हजारी ने आर्थिक मदद देने के साथ ही बारहवीं तक की पढाई का जिम्मा ले लिया है.

इस बारे में जानकारी देते हुए महेश्वर हजारी ने कहा है कि ज्योति को तत्काल पचास हजार की आर्थिक मदद के साथ ही उसकी बारहवीं तक पढ़ाई का जिम्मा उठाएंगे साथ ही साथ जरूरत पड़ने पर अन्य मदद भी करेंगे.

वहीँ ज्योति की सहायता के लिए आगे आईं राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी फ़िलहाल आर्थिक मदद के साथ-साथ ज्योति की पढ़ाई, शादी और पिता की नौकरी का वायदा किया है।