पप्पू यादव की गिरफ़्तारी के विरोध में सीएम का फूंका पुतला

बाढ़ (TBN – अखिलेश्वर कु सिन्हा रिपोर्ट)| जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ पप्पू यादव की गिरफ़्तारी के विरोध में जाप नेताओं ने अपना विरोध दिखाया है. शुक्रवार को बाढ़ के गुलाबबाग स्थित जाप कार्यालय से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं छपरा सांसद राजीव प्रताप रूड़ी के पुतलों की अर्थी निकाली गई.

जाप नेताओं के अनुसार, पप्पू यादव को जबरन केस में फंसाकर जेल भेजने के विरोध में मुख्यमंत्री की शवयात्रा निकाल विरोध जताया जा रहा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं छपरा सांसद राजीव प्रताप रूड़ी का अर्थी जुलूस निकाल कर पार्टी नेताओं ने स्थानीय उमानाथ सती स्थान ले जाकर दोनों के पुतलों को हिन्दू रीति रिवाज के अनुसार दाह संस्कार किया.

पुतलों के दाह संस्कार के बाद जाप युवा शक्ति अध्यक्ष अजय कुमार ने पप्पू यादव की गिरफ्तारी पर सवाल उठाते हुए कहा कि एक व्यक्ति जो बिहार में कोई भी आपदा में सबसे पहले बिहारियों के साथ खड़ा होकर लोगों की सेवा करता है, साथ ही वर्तमान करोना महामारी में खुद की जान की परवाह किए बिना अस्पतालों में जाकर दवाई, खाना, आक्सीजन सिलेण्डर बांट परेशान लोगों की मदद कर जान बचा रहा है, उस व्यक्ति को सरकार झुठे मुकदमे कर जेल भेजने का काम कर अपने कुकर्मों पर पर्दा डालने का प्रयास कर रही है.

आप यह भी पढ़ना चाहेंगेलॉकडाउन के असर से राज्य में लगातार 5वें दिन घटे केस

अजय ने आगे कहा कि एक वर्तमान सांसद जिस तरीके से दर्जनों एंबुलेंस अपने घर में छुपा कर रखता है उसपर कारवाई करने की बजाय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने, इस बात का खुलासा करने वाले को जेल में डालकर अपनी नीचता की पराकाष्ठा पार कर दिया है.

उन्होंने कहा कि आज जनता नीतीश सरकार के इस कदम से आक्रोश में है और इस कारण सीएम नीतीश कुमार को मृतप्राय मानकर सती स्थान बाबा उमानाथ की पावन धरती पर उनका दाह संस्कार किया जा रहा है.

अजय कुमार ने कहा कि पार्टी माननीय न्यायालय से आग्रह निवेदन करती है कि सेवक पप्पू यादव जी को जल्द से जल्द रिहा कर दिया जाय. इस मौके पर जाप जिला अध्यक्ष मनीष कुमार, प्रदेश नेता बिमल महतो, तरुण यादव, नितिश कुमार, राहुल कुमार विपिन कुमार सहित दर्जनों कार्यकर्ता शामिल रहे.