स्पीकर विजय सिन्हा पर भड़के सीएम नीतीश कुमार, कहा – ऐसे नहीं चलेगा सदन

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| सोमवार का दिन बिहार विधानसभा के लिए एक काला दिन (black day for Bihar Assembly) साबित हुआ. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधानसभा स्पीकर विजय सिन्हा पर भड़कते (Nitish Kumar lashed out at Assembly Speaker Vijay Sinha) हुए कह दिया कि आप खुलेआम संविधान का उल्लंघन कर रहे हैं, ऐसे में सदन नहीं चलेगा.

सोमवार को सरस्वती पूजा के दौरान लखीसराय जिले में स्थानीय पुलिस और विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा के बीच हुए विवाद को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा के बीच में कहासुनी हो गई. नीतीश कुमार ने स्पीकर से कहा कि आप खुलेआम संविधान का उल्लंघन कर रहे हैं, ऐसे में सदन नहीं चलेगा.

दरअसल, लखीसराय कांड को लेकर बिहार विधानसभा में पिछले कई दिनों से गतिरोध बना हुआ है. लखीसराय में स्पीकर से दुर्व्यवहार के मामले में बिहार विधानसभा में सोमवार को जमकर हंगामा हुआ. सदन में बार-बार इस मामले को उठाए जाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार स्पीकर विजय कुमार सिन्हा पर भड़क गए. आपत्ति जताते हुए नीतीश ने कहा कि आप संविधान का खुलेआम उल्लंघन कर रहे हैं. इस तरह से सदन नहीं चलेगा.

इस मामले को सोमवार को भी बीजेपी विधायक संजय सरावगी ने लखीसराय में 9 लोगों की हत्या का मामला उठाया और पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया.

इस दौरान संजय सरावगी ने सरस्वती पूजा के दौरान विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष पुलिस की बदसलूकी का मामला भी उठाया, जिसके बाद प्रभारी गृह मंत्री विजेंद्र यादव ने जवाब देते हुए कार्रवाई की बात कही.

यह भी पढ़ें| लालू ने विकास का नैरेटिव ही बदल डाला

मंत्री विजेंद्र यादव की ओर से इसका जवाब दिया जा रहा था कि अचानक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सदन के अंदर आ गए और इस पूरे मामले पर आपत्ति जताते हुए अध्यक्ष विजय सिन्हा से कहा कि आप एक ही मामले को बार-बार नहीं चला सकते. इसे क्यों उठाया जा रहा है?

सीएम नीतीश ने कड़े शब्दों में दिया जवाब

सीएम नीतीश कुमार ने स्पीकर से कहा कि अगर कोई अपराध हुआ है तो उसकी रिपोर्ट कोर्ट में दी जाएगी न कि विधानसभा को दी जाएगी. आप खुलेआम संविधान का उल्लंघन कर रहे हैं, ऐसे में सदन नहीं चलेगा. लखीसराय मामले में विशेषाधिकार समिति द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट पर हम निश्चित रूप से विचार करेंगे और देखेंगे कि कौन सा पक्ष सही है. व्यवस्था संविधान द्वारा संचालित है. कृपया इसे ज़्यादा मत करो. जिसे करने का अधिकार है उसे करने दो. किसी तरह की गड़बड़ी हुई तो बातचीत की जाएगी. इस मामले को बेवजह आगे बढ़ाने की जरूरत नहीं है. आप संविधान देखिए, संविधान क्या कहता है. हमारी सरकार किसी को बचाती है और किसी को फंसाती नहीं है.

‘आप लोगों ने विधानसभा अध्यक्ष बनाया’

वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के रवैये को देखते हुए स्पीकर विजय सिन्हा ने कहा कि आसन को हतोत्साहित करने की बात नहीं होनी चाहिए. सरकार इस पर गंभीर कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है? आप लोगों ने मुझे विधानसभा का अध्यक्ष बनाया है. लखीसराय की घटना को पुलिस कर रही है. जहां तक ​​संविधान का सवाल है, मुख्यमंत्री जी आप हमसे ज्यादा जानते हैं, मुझे आपसे पता चलता है कि जिस मामले की बात हो रही है उसे लेकर सदन में तीन बार हंगामा हो चुका है. मैं विधायकों का संरक्षक हूं. मैं जब भी इलाके में जाता हूं तो लोग सवाल पूछते हैं कि वे थाना प्रभारी और डीएसपी के बारे में नहीं बोल पा रहे हैं.

देखिए इस मामले का पूरा वीडियो, यहां –