CM ने संभावित बाढ़ की पूर्व तैयारियों पर की उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक

पटना  (TBN रिपोर्ट) | मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को नदियों पर प्रस्तावित कटाव निरोधक कार्यों की स्थिति एवं संभावित बाढ़ की पूर्व तैयारियों के संबंध में एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक आयोजित की. समीक्षा बैठक में नीतीश कुमार ने कोसी, गंडक, कमला एवं अन्य नदी बेसिन एवं सीमावर्ती क्षेत्रों तथा पिछली बार जहां कटाव हुआ था उन स्थलों पर सुरक्षा हेतु बाढ़ सुरक्षात्मक कार्यों का कार्यान्वयन पूरी तत्परता से करने का निर्देश दिया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ सुरक्षा से संबंधित सभी लंबित योजनाओं को पूर्ण करने के लिए नेपाल के भी संबंधित अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर कार्य को शीघ्र पूरा करें. संभावित बाढ़ से बचाव की सारी तैयारियां पूर्व से रखें और तटबंध के किनारे वृक्षारोपण करें. इससे तटबंधो को मजबूती मिलेगी साथ ही रिसाव भी नियंत्रित होगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी तकबंधो के महत्वपूर्ण स्ट्रैटेजिक स्थानों पर बाढ़ संघर्षतात्मक सामग्रियों का भंडारण पर्याप्त मात्रा में रखें ताकि बाढ़ की स्थिति में निरोधात्मक कार्य सुचारु रुप से किया जा सके.

नीतीश कुमार ने कहा कि कमला बलान तटबंध की मजबूती के लिए तटबंधों में स्टील शीट पाइलिंग की जा रही है इस तरह का प्रयोग बिहार में पहली बार हो रहा है इससे तटबंध को मजबूती मिलेगी.

मुख्यमंत्री ने निर्देश देते हुए कहा कि संभावित बाढ़ को देखते हुए ललबेकिया दायाँ मार्जिकल बाँध एवं कमला बियर के बाएं एवं दाएं गाइड पर बाढ़ संघर्षात्मक सामग्रियों का भंडारण पर्याप्त मात्रा में रखें.

उन्होंने कहा कि कोसी बेसिन में प्रस्तावित 22 अदद कार्यों में से 15 अदद कार्यों को पूर्ण करा लिया गया है तथा शेष 7 अदद कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने के लिए कार्य में तेजी लाएं.

जल संसाधन विभाग के प्रस्तुतीकरण में बताया गया कि कमला बियर के बाएं तथा दाएं गाइड बांध का ब्रिज क्लोजर सुरक्षात्मक कार्य अभी अपूर्ण है. मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि संबंधित अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर कार्य को शीघ्र पूरा करें.

उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि बाल्मीकि नगर स्थित गंडक बराज का लगातार निरीक्षण करें अगर बराज के किसी गेट में कोई समस्या हो तो सुरक्षात्मक कार्य शुरू किया जाए इसके लिए निरीक्षण कार्य में लगे सभी अधिकारी और इंजीनियर सतर्क रहें इसके लिए अधिकारियों को भी प्रशिक्षित किया जाए. जल संसाधन विभाग ने कहा कि पूर्वी चंपारण के बेलवा धार में फ्लड स्लुईस गेट निर्माण का कार्य चल रहा है तो मुख्यमंत्री ने इस कार्य को शीघ्र पूरा करने का तथा विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि संचार व्यवस्था और सुदृढ़ रखें ताकि बाढ़ की स्थिति में भी संचार व्यवस्था पूरी तरह बहाल रहे. बाढ़ की स्थिति में लोगों को राहत पहुंचाने के लिए जो भी कार्य किए जाने हैं एसओपी के अनुसार वे सारी तैयारियां करें ताकि किसी को कठिनाई ना हो.

Advertisements