चिराग ने चला अपना फाइनल दांव, बिहारवासियों के लिए लिखा इमोशनल खत

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बिहार विधान सभा चुनाव से पहले NDA में JDU और LJP के बीच चल रही खींचातानी किसी से छिपी नहीं है. इसी बीच चिराग पासवान ने अपना फाइनल दाव चलते हुए बिहार की जनता को एक पत्र लिखा है. चिराग पासवान ने कार्यकर्ताओं और बिहार की जनता के नाम खुला खत लिख इस बात का जिक्र किया कि सीएम नीतीश को वोट देने का मतलब अपने बच्चें को पलायन करने पर मजबूर करने जैसा है.

चिराग पासवान ने पत्र में लिखा है: “पापा का अंश हूँ, कभी भी परिस्थितियों से हार नहीं मानूंगा और न किसी कीमत पर “बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट” की सोच को मिटने दूंगा. यह फैसला बिहार पर राज करने के लिए नहीं बल्कि नाज करने के लिए किया गया है”.

चिराग ने आगे लिखा है, “पापा ने मुझे हमेशा कहा है कि कभी भी अकेले चलने से मत घबराना, अगर रास्ता और मकसद ठीक होगा तो लोग तम्हारे साथ आएंगे. पापा मम्मी और आप, सभी के आशीर्वाद से अभी लम्बा सफर तय करना और अनुभव लेना है. बिहार राज्य के इतिहास का ये बड़ा निर्णायक क्षण है. 12 करोड़ बिहारवासियों के जीवन मरण का प्रश्न है क्योंकि अब हमारे पास खोने के लिए और समय नहीं है. JDU के प्रत्याशी को दिया गया एक भी वोट कल आपके बच्चे को पलायन करने पर मजबूर कर सकता है”.

इसके साथ ही उन्होंने लिखा कि लोक जनशक्ति पार्टी की राह आसान नहीं है. लेकिन हम लड़ेंगे और जीतेंगे भी. मुझे आशा है कि मेरी ईमानदारी, मेहनत, निष्ठा व संकल्प को देख आप सभी अपना आशीर्वाद लोक जनशक्ति पार्टी के प्रत्याशियों को देंगे ताकि बिहार को फर्स्ट बनाया जा सके. मैं पार्टी के सभी नेता व कार्यकर्ताओं से अपील करता हूँ कि पार्टी के साथ मजबूती से खड़े रहें और पार्टी के सिंबल पर लड़ रहे उम्मीदवार को जिताने में पूरी ताकत झोक दें.