चिराग ने PM केयर फंड में दिया 2 महीने का वेतन

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट)- कोरोना वायरस का संक्रमण मानवजाति के लिए विनाशकारी साबित होता जा रहा है. विश्वभर में कोरोना वायरस से संक्रमितों और मरने वालों के आंकड़े सभी के लिए चिंता का विषय हैं. भारत में भी कोरोना वायरस के प्रभाव से बचने के लिए लॉकडाउन घोषित होने से बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस मामले पर लगातार नजर बनाए हुए हैं. उन्होंने शनिवार को इस महामारी से निपटने के लिए पीएम-केयर फंड बनाया है. उन्होंने देशवासियों से इसमें दान करने की अपील की है. इसके बाद जरूरतमंदों की सहायता के लिए नेता, अभिनेता, खिलाडी और व्यवसायिक घरानों की हस्तियां आगे आयी हैं. इसके साथ ही राजनीतिक दलों का मदद करने का सिलसिला लगातार जारी है. इसी क्रम में लोक जनशक्ति पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद चिराग पासवान ने कोरोना से लड़ने के लिए अपना 2 महीने का वेतन प्रधानमंत्री केयर्स फंड में देने का फैसला करते हुए अन्य राज्यों में फंसे बिहारियों के मुद्दे पर केंद्रीय गृह मंत्री से बात की और उनकी मदद के लिए आवशयक कदम उठाने का आग्रह किया.

लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर आग्रह करते हुए कहा कि “इस समय सम्पूर्ण देश वायरस के कारण संकट के दौर से गुजर रहा है। पूरे देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन की घोषणा की है। हर भारतवासी इस भारत से लड़ने का प्रयास कर रहा है। इसी क्रम में मैं अपने 2 माह का वेतन प्रधानमंत्री के रिफंड में देकर एक छोटा सा योगदान करना चाहता हूं”।

लोक जनशक्ति पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद चिराग पासवान ने इससे पहले भी अपने सांसद कोष से कोरोना वायरस के संक्रमितों और इससे कारण प्रभावित लोगों की सहयता के लिए अंशदान कर चुके हैं। इसके साथ ही उन्होंने अपनी लोक जनशक्ति पार्टी के सभी सांसदों से भी अंशदान करने की अपील भी की है. चिराग पासवान ने शनिवार को अन्य राज्यों में फंसे बिहारियों के मुद्दे पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से फोन पर बातचीत की थी बाद में उनकी बातचीत केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय से भी हुई थी जिसके बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया था। कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए चिराग पासवान के द्वारा उठाया गया ये कदम वाकई में सराहनीय है.