शराबबंदी पर बीजेपी एमएलसी के बयान ने बढ़ाई नीतीश सरकार की टेंशन

sanjay paswan bjp mlc on nitish govt over liquor ban

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| शराबबंदी को लेकर राज्य में जमकर हो रही राजनीति के बीच बीजेपी एमएलसी ने बड़ा बयान दे दिया है. उनके इस बयान ने एनडीए के लिए परेशानी खड़ी कर दी है.

बीजेपी एमएलसी संजय पासवान ने कहा है कि नीतीश सरकार को शराबबंदी पर पुनर्विचार करना चाहिए. उनके अनुसार, सीतामढ़ी में शराब माफिया द्वारा पुलिस के जवान पर हमला से मामला और गंभीर हो गया है.

पासवान ने शराब माफिया द्वारा पुलिस पर किए हमले के बहाने राज्य के गृह सचिव पर भी इशारों-इशारों में बड़ा हमला किया. उन्‍होंने कहा कि गृह सचिव हमारे मित्र हैं, लेकिन उनसे गृह विभाग नहीं संभल रहा है, जिस तरह से घटनाएं घट रही हैं उन्हें खुद से पद से हट जाना चाहिए.

जेडीयू बैकफुट पर

बता दें कि शराबबंदी को लेकर विपक्ष लगातार सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साध रहा हैं. नीतीश सरकार के लिए परेशानी इसलिए भी और बढ़ गई है क्योंकि अब उनके सहयोगी भी शराबबंदी पर सवाल उठाने लगे हैं. अब भाजपा एमएलसी संजय पासवान के बयान के बाद जेडीयू बैकफुट पर नजर आ रही है.

जेडीयू ने दी सफाई

भाजपा एमएलसी के बयान पर जेडीयू के एमएलसी गुलाम गौस ने कहा कि कौन क्या कहता है यह हम नहीं जानते, लेकिन नीतीश कुमार शराबबंदी को लेकर पूरी तरह से गम्भीर हैं और इसमें किसी तरह से समझौता नहीं कर सकते है. उनका अपना निजी विचार हो सकता है, लेकिन बिहार में मजबूती से शराबबंदी पर काम हो रहा है.

आप यह भी पढ़ेंआरजेडी एमएलसी ने सीएम आवास के बाहर शराब की डिलीवरी का किया दावा

यही नहीं, शराबबंदी के सवाल पर नीतीश के मंत्री अशोक चौधरी झल्ला गए. उन्‍होंने कहा कि कौन क्या कहता है, इस पर मुझे कुछ नहीं कहना, लेकिन शराबबंदी पर जो लोग सवाल उठाते हैं उन्हें देखना चाहिए इसको लेकर सरकार कितनी गंभीर है. खैर शराबबंदी को लेकर विरोधी लगातार नीतीश कुमार पर हमला बोल रहे हैं, लेकिन जब सहयोगी भी विरोधियों के सुर में सुर मिलाने लगे तो सरकार के लिए परेशानी खड़ी हो सकती है.
(इनपुट – न्यूज18)