बोचहां में बीजेपी ने उतारी स्टार प्रचारकों की फौज

मुज़फ़्फ़रपुर (TBN – The Bihar Now डेस्क)| मुजफ्फरपुर की बोचहा विधानसभा सीट (Bochaha Assembly seat of Muzaffarpur in Bihar) पर होने वाले उपचुनाव को लेकर सियासत तेज हो गई है. सभी पार्टियों ने जीत के लिए पूरी ताकत झोंक दी है.

यह सीट बीजेपी के लिए प्रतिष्ठा का विषय बन गई है, इसलिए पार्टी ने चुनाव प्रचार के लिए नेताओं की फौज तैयार (BJP has launched an army of leaders in Bochaha by-elections) की है. बीजेपी के स्टार प्रचारकों की लिस्ट में 40 नेताओं के नाम हैं जो बोचाहा विधानसभा उपचुनाव में जाकर पार्टी के लिए प्रचार करेंगे.

भाजपा द्वारा चुनाव आयोग (Election Commission) को सौंपी गई स्टार प्रचारकों की सूची में 40 चेहरे शामिल हैं. स्टार प्रचारकों की इस सूची में बिहार भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल, केंद्रीय मंत्री एवं बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव, हरीश द्विवेदी, उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, रेणु देवी, सुशील मोदी, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद गिरिराज सिंह, मंगल पांडेय शामिल हैं.

इनके अलावा रविशंकर प्रसाद, प्रेम कुमार, राधा मोहन सिंह, नंदकिशोर यादव, अश्विनी कुमार चौबे, नागेंद्र नाथ त्रिपाठी, भीखुभाई दलसानिया, शाहनवाज हुसैन, राजीव प्रताप रूडी, जनक चमार, सम्राट चौधरी, रामसूरत कुमार, अजय निषाद, डॉ संजय पासवान, राजकुमार सिंह, विवेक ठाकुर, गोपाल नाम नारायण सिंह, ओम प्रकाश यादव, राजेंद्र गुप्ता, मिथिलेश तिवारी, राधा मोहन सिंह, प्रमोद चंद्रवंशी, पिंकी कुशवाहा, नीतीश मिश्रा, राजेश वर्मा, सिद्धार्थ शंभू, देवेश कुमार, संजीव चौरसिया, सुशील चौधरी निवेदिता सिंह और लाजवंती झा भी शामिल हैं.

यह भी पढ़ें| पटना में ISKCON के नए भव्य मंदिर का औपचारिक उद्घाटन 3 मई को

बता दें कि साल 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव में बोचहां सीट से मुसाफिर पासवान (Musafir Paswan) ने विकासशील इंसान पार्टी (Vikassheel Insaan Party) के टिकट पर जीत हासिल की थी. साल 2021 में उनका निधन हो गया, जिससे यह सीट खाली हो गई. अब यहां उपचुनाव हो रहे हैं.

एनडीए की तरफ से बीजेपी ने यहां से अपना उम्मीदवार उतारा है. बीजेपी ने पूर्व विधायक बेबी कुमारी (Ex MLA Baby Kumari) को टिकट दिया है जबकि वीआईपी ने पूर्व मंत्री रमई राम की बेटी गीता देवी (Geeta Devi, daughter of former minister Ramai Ram) को टिकट दिया है. वहीं राजद ने मुसाफिर पासवान के बेटे अमर पासवान (Amar Paswan, son of Musafir Paswan) को मैदान में उतारा है.