स्पेशल ट्रेन के मुद्दे पर BJP में मतभेद

पटना (TBN रिपोर्ट) :- बिहार के लोगों को वापस लेकर आ रही स्पेशल ट्रेन के मुद्दे पर BJP में मतभेद नजर आ रहा है. राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं के बयानों से भाजपा के दो खेमों में बँटे होने का अंदेशा लगाया जा रहा है.

जहां एक खेमा स्पेशल ट्रेन चलाए जाने की अनुमति के बाद उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी का गुणगान कर रहा है तो वहीँ दूसरा गुट सुशील मोदी का नाम लेने से भी परहेज कर रहा है और इस निर्णय के लिए पार्टी नेतृत्व को बधाई दे रहा है.

एक तरफ पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष और पूर्व विधायक राजीव रंजन ने प्रेस बयान जारी कर प्रवासी मजदूरों के लिए स्पेशल ट्रेन चलाए जाने के निर्णय का स्वागत किया है और नेतृत्व का आभार जताते हुए कहा है कि प्रदेश हित में एक और सराहनीय निर्णय लेते हुए केंद्र सरकार ने अन्य राज्यों में फंसे लोगों के लिए स्पेशल ट्रेन चलाने की जो घोषणा की है, उसकी जितनी प्रशंसा की जाए कम होगी. सरकार के इस निर्णय से कई लाख मजदूर और कई हजार छात्र, वापस अपने-अपने घर आ सकेंगे. जिसमें बिहार के लोग भी बड़ी संख्या में शामिल हैं. इस निर्णय के लिए बिहार की जनता प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक जेपी नड्डा, बिहार के प्रभारी भूपेन्द्र यादव, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल, रेल मंत्री पीयूष गोयल, गृहराज्य मंत्री नित्यानंद राय व अन्य शीर्ष नेताओं की आभारी रहेगी.

दूसरी तरफ बिहार बीजेपी के प्रवक्ता प्रेमरंजन पटेल ने इस उपलब्धि का श्रेय सुशील मोदी को दिया था. पूर्व विधायक तथा प्रदेश प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने कहा था कि उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी की मांग पर केंद्रीय गृह मंत्रालय तथा रेल मंत्रालय ने स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है.

बता दें लोगों को वापस बिहार में लाने के मुद्दे को लेकर बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने रेल चलाने की अपील की थी. इसके साथ ही सभी लोगों की समस्या को देखते केंद्रीय गृह मंत्रालय ने श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है.