बिहारियों को वापस लाने के लिए BJP ने केंद्र से लगायी गुहार

पटना (TBN रिपोर्ट) :- नीतीश सरकार लॉकडाउन का हवाला देते हुए बाहरी राज्यों में फंसे हुए लोगों को बिहार में वापस लाने में असमर्थता जता रही हैं. यहाँ तक कि राजस्थान के कोटा में फंसे हुए छात्र और छात्राओं को वापस लाने का मामला अभी भी हाई कोर्ट में चल रहा है.

इधर अन्य राज्यों ने अपने-अपने नागरिकों को देश के अन्य हिस्सों से वापस लाने की प्रक्रिया शुरू दी है. वहीँ नीतीश सरकार अभी भी लॉकडाउन के चलते विवशता दिखा रहे हैं. लेकिन अब यह मुद्दा गर्माता जा रहा है. विपक्षी दलों के साथ-साथ अब भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता भी सरकार के इस रूप के खिलाफ जनता की आवाज बुलंद करने लगे हैं. इस मामले को लेकर अब बिहार बीजेपी के अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने कोटा सहित देश के अन्य हिस्सों में फंसे बिहारियों की घर वापसी के लिए केंद्र सरकार के सामने गुहार लगाई है.

बिहार बीजेपी के अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने आज श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार के साथ-साथ संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की है. इस बातचीत के दौरान राज्य मंत्री अर्जुन मेघवाल भी मौजूद थे. डॉक्टर संजय जयसवाल ने केंद्र सरकार से यह मांग की है कि उत्तर प्रदेश की तर्ज पर बिहार में भी बाहर फंसे लोगों की घर वापसी कराई जाये.

इस मामले को लेकर डॉक्टर संजय जयसवाल ने बिहार सरकार के बीजेपी कोटे के मंत्रियों और बिहार से आने वाले बीजेपी के तमाम सांसदों से भी बातचीत की थी. सांसदों का भी यह मानना था कि बाहर फंसे बिहारियों को किसी न किसी तरीके वापस लाना चाहिए. उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, मध्यप्रदेश समेत तमाम राज्य अपने लोगों को वापस ला रहे हैं. ऐसे में अगर बिहार सरकार अपने राज्य के लोगों को वापस नहीं लाती है तो इसका खामियाजा भी आगे भुगतना पड़ सकता है.

बता दें लॉकडाउन के चलते बिहार के 17 लाख से ज्यादा लोग दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं. बिहार के करीब 11 हजार छात्र और छात्राएं राजस्थान के कोटा में भी फंसे हैं. विपक्ष के राष्ट्रीय जनता दल (राजद) समेत सभी राजनीतिक दल बाहरी राज्यों में फंसे हुए लोगों को लेकर सरकार पर लगातार हमले कर रहे हैं.