बिहार ग्रामीण स्थानीय निकाय चुनाव अप्रैल-मई में होने की संभावना

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बिहार में त्रिस्तरीय ग्रामीण स्थानीय निकायों के चुनाव इस साल अप्रैल-मई में होने की संभावना है. इस चुनाव में छह पदों – वार्ड सदस्य, मुखिया, पंचायत समिति सदस्य, जिला बोर्ड सदस्य, पंच और सरपंच के लिए चुनाव किये जाएंगे. इस कड़ी में राज्य में निर्वाचक नामावलियों (electoral roll) को संशोधित करने की कवायद पहले से ही चल रही है और यह 11 जनवरी तक जारी रहेगी

इस बिहार पंचायत चुनाव के बारे में आपको निम्नलिखित बातें पता होनी चाहिए :

  1. बिहार राज्य में 8,378 ग्राम पंचायतें, 534 पंचायत समितियां और 38 जिला बोर्ड हैं. साथ ही यहाँ 114,667 वार्ड सदस्यों के साथ 258,000 पद हैं.
  2. आगामी पंचायत चुनाव इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (EVM) के माध्यम से किए जा सकते हैं और इसके लिए एक प्रस्ताव राज्य सरकार के विचाराधीन है और कैबिनेट के द्वारा इसकि मंजूरी का इंतजार है.
  3. इस पंचायत चुनावों के संचालन का कार्यक्रम राज्य निर्वाचन आयोग (SEC) द्वारा अगले महीने बिहार सरकार को अनुमोदन के लिए भेजने की संभावना है.
  4. बिहार स्थानीय निकाय चुनाव, जो अप्रैल-मई में चरण-वार तरीके से होने की संभावना है, में लगभग 450 करोड़ रुपये खर्च होने की संभावना है. इसमें लगभग 300 करोड़ रुपये राज्य निर्वाचन आयोग (SEC) के लिए और 125 करोड़ रुपये EVM की खरीद के लिए है.
  5. बिहार स्थानीय निकाय चुनाव में उम्मीदवारों को अपने नामांकन पत्र को पारंपरिक विधि के अलावा, ऑनलाइन भी दाखिल करने की सुविधा मिलने की संभावना है, क्योंकि राज्य चुनाव आयोग निकाय चुनाव को कोरोनोवायरस महामारी (Covid-19) के कारण डिजिटल बनाने की कोशिश कर रहा है. इसके लिए, उम्मीदवारों को निर्दिष्ट पोर्टलों पर जाना होगा और एक चालान के माध्यम से आवश्यक शुल्क को डिजिटल रूप से जमा करना होगा और फिर नियत समय पर रिटर्निंग ऑफिसर (आरओ) के कार्यालय का जाना होगा. बता दें कि इस प्रणाली को पिछले साल बिहार में विधानसभा चुनावों में भी अपनाया गया था.
  6. इस चुनाव में परिणाम घोषित होने के तुरंत बाद जीतने वाले उम्मीदवारों को ई-प्रमाण पत्र जारी करने का काम भी विचाराधीन है.
  7. पंचायत चुनावों के लिए अद्यतन रोल का ड्राफ्ट प्रकाशन 19 जनवरी को किया जाएगा और पहले ड्राफ्ट के सभी दावों और आपत्तियों को संबोधित करने के बाद रोल का अंतिम प्रकाशन 19 फरवरी को किया जाएगा.
  8. अद्यतन मतदाताओं की सूची को ऑनलाइन किया जाएगा और मतदाता इसे डाउनलोड कर सकने में सक्षम होंगे. मतदाता विभिन्न प्रक्रियाओं का उपयोग करके अपने नामों की खोज करे सकेंगे क्योंकि पूरी प्रक्रिया को डिजिटल किया जाएगा.