बिहार को खूंटा गाड़ लड़ने वाली सरकार चाहिए – लालू यादव

रांची (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) | राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो एवं पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव विभिन्न मामलों में बिरसा मुंडा कारागार में सजा काट रहे हैं और बीमारी की वजह से कारागार के माध्यम से रिम्स अस्पताल में भर्ती हैं. लेकिन लालू यादव का राजीनति का खेल अभी भी जारी है. लालू यादव ने बिहार की नीतीश सरकार पर ट्विटर के माध्यम से आज बड़ा हमला बोलते हुए ट्वीट कर कहा है कि;

“बिहार को बिहार और बिहार वासियों के हितों के लिए खूंटा गाड़ लड़ने वाली सरकार चाहिए. कदम कदम पर लड़खड़ाने वाली, खोखली, ढकोसली, विश्वासघाती, कुर्सीवादी और पलटी मार सरकार नहीं”

लालू यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को पलायन के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए ट्वीट कर कहा कि;

“नीतीश और उनका स्टेपनी सुशील मोदी बताएं, उनके 15 वर्षों के राज में बिहार के हर दूसरे घर से पलायन काहे हुआ?”

बता दें दुमका कोषागार मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने लालू को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और भ्रष्टाचार निवारण (पीसी) एक्ट के तहत सात- सात वर्ष की कैद की सजा सुनायी है. चारा घोटाले के चार विभिन्न मामलों में वह सजायाफ्ता हैं और फिलहाल बिरसा मुंडा कारागार के माध्यम से रिम्स अस्पताल में भर्ती हैं. लालू यादव ने जमानत के लिए अपनी बीमारी का हवाला दिया है. अर्जी में कहा है कि वह रिम्स में भर्ती हैं और कई बीमारियों से ग्रसित हैं.