BreakingPolitics

अंतरिम बजट पर बिहार इंडस्ट्रीज़ एसोसिएशन की प्रतिक्रिया

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| गुरुवार को केन्द्रीय वित्त मंत्री (Union Finance Minister) द्वारा संसद में पेश किए गए वित्तीय वर्ष 2024-25 के लिए अंतरिम बजट पर बिहार इंडस्ट्रीज़ एसोसिएशन (Bihar Industries Association) ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त किया है. एसोसिएशन के अध्यक्ष ने कहा कि अंतरिम बजट होने के कारण इससे ज्यादा की उम्मीद नहीं थी. वहीं एसोसिएशन के महासचिव गौरव साह ने उम्मीद जताई कि कृषि क्षेत्र में ‘वेलू एडीशन’ के कारण बिहार को लाभ मिल सकता है.

एसोसिएशन के अध्यक्ष केपीएस केशरी (KPS Keshari) ने कहा कि चूंकि यह एक अंतरिम बजट है, जो सरकार कुछ महीनों के अपने खर्च के लिए पेश करती है, इसलिए इससे हम सबों को बहुत उम्मीद नहीं थी. हालांकि बजट के कुछ प्रावधानों से अपने राज्य बिहार को फायदा मिलने की अवश्य उम्मीद की जा सकती है.

उन्होंने कहा कि बजट में केन्द्र सरकार ने यह माना है कि देश के विकास के दौर में पूर्वोत्तर राज्य पीछे रह गये हैं. निश्चित रूप से सरकार पूर्वोत्तर राज्यों के विकास के लिए भविष्य में कार्य योजना बनायेगी जिसका लाभ बिहार को भी निश्चित रूप से मिलेगा.

केशरी ने आगे बताया कि देश में पर्यटन प्रक्षेत्र को अर्थव्यवस्था का बड़ा आधार बनाने तथा रोजगार के नये अवसर सृजित करने पर भी वित्त मंत्री ने अपने इस अंतरिम बजट में चर्चा की है. जिसके तहत यह बात कही गयी है कि केन्द्र सरकार राज्यों को अपने यहां पर्यटन प्रक्षेत्र को सुदृढ़ करने हेतु दीर्घकालीन सूद मुक्त ऋण उपलब्ध करायेगी.

उन्होंने कहा कि बिहार में पर्यटन प्रक्षेत्र में विकास की अपार संभावनाऐं हैं. हमारे यहां सभी तरह के पर्यटन की संभावनाऐं उपलब्ध है. उम्मीद है कि सरकार की इस नीति का लाभ राज्य सरकार लेगी तथा पर्यटन प्रक्षेत्र को विकसित एवं सुदृढ़ करने हेतु अपना प्रोजेक्ट केन्द्र सरकार को उपलब्ध करायेगी.

बजट पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए एसोसिएशन के महासचिव गौरव साह ने कहा कि सरकार ने कृषि प्रक्षेत्र को और ज्यादा सुदृढ़ करने के बृहत उद्देश्य से कृषि क्षेत्र में वेलू एडीशन की बात कही है. बिहार राज्य कृषि प्रधान राज्य है. निश्चित रूप से इसका लाभ बिहार जैसे कृषि प्रधान राज्य को मिलने की उम्मीद की जा सकती है. पुनः वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण में राज्यों के साथ मिल कर नेक्स्ट जेनरेशन रिफॉर्म (Next Generation Reform) की भी बात की है, जिसका हम सभी स्वागत करते हैं. आयकर से सम्बन्धित पुराने विवादों को खत्म करने की भी चर्चा बजट में की गयी है जिसका लाभ काफी लोगों को मिलेगा. यह भी स्वागत योग्य कदम है.