कृषि विधेयक के विरोध में 27 सितम्बर को बिहार बंद करेगी पप्पू यादव की पार्टी ‘जाप’

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | पटना से एक बड़ी खबर आ रही है, जहां जन अधिकार पार्टी के प्रमुख व पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने केंद्र के कृषि विधेयक का जमकर विरोध किया है. पप्पू यादव ने कहा कि यह कानून खेतों को अमीरों के हाथों गिरवी रखने वाला क़ानून है. इसलिए इसके खिलाफ 27 सितंबर को बिहार बंद करेंगे.

पप्पू यादव ने कहा केंद्र सरकार के इस काळा कानून के खिलाफ 20 सितम्बर को जाप के कार्यकर्ता सभी जिला मुख्यालयों में प्रधान मंत्री का पुतला दहन करेंगे. 21 सितम्बर को पोल खोल नुक्कड़ सभा होगी और 26 सितम्बर को मशाल जुलुस निकाला जायेगा. उन्होंने किसानों के लिए ऐसा कानून बनाने को कहा ताकि उनका अनाज MSP- न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम पर नहीं बिके.

इसके साथ ही पप्पू यादव ने प्रधान मंत्री पर हमला बोलते हुए कहा कि इस काळा कानून से वे अपने 10-12 चहेते लोगों को लाभ दिलाना चाहते हैं. इस कानून से किसान अपनी ही जमीन पर महज़ मजदुर बन कर रह जायेंगे.

पप्पू यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश को आड़े हाथों लेते हुए पूछा कि वे विकास की बात करते हैं जबकि आये दिन नए पुल ढह-बह जा रहे हैं. पप्पू यादव ने नीतीश कुमार और नरेंद्र मोदी दोनों को किसान विरोधी बताया. उन्होंने कहा कि इन दोनों को किसानों की नहीं बल्कि पूंजीपतियों की चिंता है. जाप पार्टी इस काले कानून का पुरजोर विरोध करती है.

बिहार चुनाव का जिक्र करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि अगर उनकी सरकार सूबे में बनती है तो सरकार किसानों से शत प्रतिशत अनाज खरीदना सुनिश्चित करेगी.

error: Content is protected !!