लालू की चुनावी जनसभा में जुटी भीड़ अपार, चुनाव में देखें होता किसका बेड़ा पार!

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बुधवार को लगभग छह सालों बाद लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) ने चुनावी सभा को संबोधित किया जिसमें जबरदस्त भीड़ देखने को मिली. उन्होंने 30 अक्टूबर को होने वाले उपचुनाव (Bihar Assembly By-election) के लिए तारापुर सीट के आरजेडी उम्मीदवार अरुण साह (Arun Sah RJD) के समर्थन में जनसभा को संबोधित किया.

समर्थकों में जबरदस्त उत्साह

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की जनसभा को लेकर तारापुर के समर्थकों में जबरदस्त उत्साह दिखा. तारापुर के ईदगाह में आयोजित जनसभा में खूब कुर्सियां टूटीं. लोग लालू यदाव की एक झलक पाने को इतने उतारू थे कि वे छतों और कुर्सियों पर चढ़ कर उन्हें देख रहे थे.

सांस लेने में हुई दिक्कत

इस चुनावी सभा में भीड़ ने मीडियाकर्मियों को भी नहीं बख्शते हुए उन्हें धकेलने लगे. बावजूद इसके, इन सभी दिक्कतों का सामना करते हुए मीडिया ने लालू की सभा का कवरेज किया. भीड़ इतनी अधिक थी कि लोगों को सांस लेने में भी काफी दिक्कत हो रही थी. भीड़ पुलिसकर्मियों से भी नहीं संभली. उन्हें भी लोगों के धक्का-मुक्की का सामना करना पड़ा.

लालू ने कही ये बातें

तारापुर में चुनावी जंसभा को संबोधित करते हुए लालू यादव ने कहा, “हम नीतीश कुमार का विसर्जन करने आए हैं. इस बार मौका है, उन्हें उखाड़ फेंकने का और तेजस्वी को मुख्यमंत्री बनाने का. नीतीश कुमार ने जिसे अपना उम्मीदवार यहां बनाया है, वह बम कांड में अभियुक्त है. वो हमें डराता है, लेकिन हम डरने वाले नहीं हैं. इस क्षेत्र की जनता से अपील है कि 30 तारीख को लालटेन पर बटन दबाकर अरुण साह को भारी मतों से विजय बनाएं और तेजस्वी को मुख्यमंत्री बना लें, वो गरीबों का भला करेगा.”

यह भी पढ़ें| मुख्यमंत्री ने गंगा घाटों का किया निरीक्षण, दिए आवश्यक दिशा-निर्देश

पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई

बता दें कि सभा स्थल पर चार-चार डीएसपी, मजिस्टेट समेत बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई थी. मगर छह साल बाद चुनावी सभा संबोधित कर रहे लालू को देखने के लिए लोग उतारू दिखे. बहरहाल, जनसभा में भीड़ तो बहुत थी. लेकिन जनता आगामी 30 तारीख को किसे वोट कर बेड़ा पार लगाएगी, यह तो वक्त ही बताएगा.

(इनपुट: एबी)