लालू की पार्टी को बड़ा झटका, RJD छोड़कर नीतीश के साथ गए तीन और MLA

Patna (TBN – The Bihar Now डेस्क) | विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे राष्ट्रीय जनता दल को बड़ा झटका लगा है. गुरुवार को लालू प्रसाद की पार्टी राजद के एक साथ तीन विधायकों ने नीतीश कुमार की पार्टी जदयू को ज्वाइन कर लिया. राजद छोड़कर जनता दल यूनाइटेड में जाने वाले विधायकों में लालू प्रसाद यादव के समधी और तेजप्रताप यादव के ससुर चंद्रिका राय, जयवर्धन यादव और फराज फातमी का नाम शामिल है. तीनों विधायकों को बिहार सरकार के मंत्री विजेंद्र यादव और श्रवण कुमार ने पार्टी की सदस्यता दिलाई.

लालू परिवार पर जमकर बरसे चंद्रिका राय

इस दौरान चंद्रिका राय ने कहा कि नीतीश जी के प्रति में अपनी पूरी आस्था व्यक्त करता हूं. 15 साल पहले जैसा बिहार नीतीश जी को मिला था आज उसे नीतीश कुमार ने पूरी तरह से बदल दिया है. चंद्रिका राय ने तेजप्रताप यादव पर भी आरोप लगाया और कहा कि छपरा में लोकसभा चुनाव के वक़्त उन्होंने मेरे खिलाफ काम किया था लेकिन लालू प्रसाद ने उन पर कोई कार्रवाई नहीं की. राय ने कहा कि आज राजद गरीबों की पार्टी नहीं रही है. राजद आज पैसे वालों की पार्टी हो गई है.

रामलखन सिंह यादव का पोता भी नीतीश की पार्टी में

रामलखन सिंह यादव के पोते जयवर्धन यादव ने कहा कि राजद से मुझे घोर निराशा हुई है. पार्टी में कोई भी सकारात्मक काम नहीं हुआ है. पार्टी में मुझ पर व्यक्तिगत हमला करवाया गया और मैं शिकायत करने जाता तो कोई मेरी शिकायत भी नहीं सुनता था. बता दें कि इससे पहले भी राजद छोड़कर पार्टी के तीन विधायक नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ज्वाइन कर चुके हैं. लालू प्रसाद के जेल में रहते हुए पार्टी के छह विधायकों के जेडीयू में जाने को बिहार चुनाव के लिहाज से बड़ा झटका माना जा रहा है.

अब तक 6 विधायक जा चुके हैं जेडीयू में

बिहार में लालू की पार्टी राजद के छह विधायक अभी तक नीतीश कुमार के खेमें में जा चुके हैं. इससे पहले जेडीयू ज्वाइन करने वाले विधायकों में अशोक कुशवाहा सासाराम से, महेश्वर प्रसाद यादव गायघाट से जबकि प्रेमा चौधरी पातेपुर से विधायक हैं. राजद की ओर से बताया गया था कि पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के निर्देश पर पार्टी के संविधान के तहत तीन विधायकों को राजद से निष्कासित किया गया है.

Advertisements