वो थाली पीट लें या अपना सर, जनता नहीं करेगी माफ़ – सेतु

पटना (TBN रिपोर्ट) | राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने आज मजदूरों, किसानों और गरीबों के विभिन्न मुद्दों को लेकर थाली-कटोरा बजाकर नीतीश सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए गरीब अधिकार दिवस मनाया. तेजस्वी के इस तरह के राजनीतिक कदम को युवा जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के प्रदेश प्रवक्ता ओमप्रकाश सिंह सेतु ने राजनीतिक नौटंकी बताते हुए कहा कि तेजस्वी यादव को थाली के बदले छाती पीटना चाहिए था.

युवा जदयू प्रवक्ता सेतु ने कहा कि तेजस्वी के माता पिता ने पंद्रह वर्षों तक बिहार की भोली भाली जनता को ठगने और लूटने का काम किया. अब अपने माँ बाप के नक्शे कदम पर चलते हुए तेजस्वी यादव थाली पीटने की नौटंकी करके जनता की हमदर्दी हासिल करना चाहते है. बिहार की जनता उनकी इस नौटंकी को भली भांति जानती है.

सेतु ने कहा कि कोरोना जैसी गंभीर महामारी के समय राज्य की जनता को उनके हाल पर छोड़ कर दिल्ली में अपने फार्म हाउस में ऐश मौज करने वाले राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के भ्रष्टाचारी युवराज रोज इस तरह के नए-नए नाटक करते हैं जैसे कि उनका मकसद जनता का हमदर्द बनना हो जबकि हकीकत यह है कि 15 वर्षों तक देश दुनिया मे बिहार की पहचान जंगलराज की बनाने वाले लालू राबड़ी की संतान तेजस्वी यादव को जनता से कोई हमदर्दी नहीं है. 

जदयू नेता ओमप्रकाश सिंह सेतु ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को सलाह देते हुए कहा है कि यदि वे थाली ही पीटना चाहते हैं तो उन्हें वैसे गाँवों में जाकर थाली पीटना चाहिए जहां उनके पिता लालू प्रसाद के शासनकाल में नरसंहार हुए थे.  सेतु ने कहा कि बिहार को लूट कर अपना खजाना भरने वाले राजद के युवराज तेजस्वी यादव को बिहार की जनता कभी माफ नहीं करेगी चाहे वो थाली पीट ले या अपना सिर पीट लें.