‘अम्बानी वोट देवे चलS बलमजी…’ गीतों से गुलज़ार हुआ चुनावी मौसम

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | देश में पहली बार होने जा रहे बिहार विधान सभा चुनाव में राजनैतिक पार्टियों ने सत्ता में आने के लिए तैयारियां तेज़ कर दी है. चुनाव का ऐलान होने के बाद सारी राजनैतिक पार्टियों ने जनता को आकर्षित करने के लिए अपने-अपने तरीके भी निकाले हैं. इसी कड़ी में सारे प्रत्याशी प्रचार प्रसार के लिए स्टूडियो की ओर रुख करने लगे हैं.

स्टूडियो के कलाकार प्रत्याशी की आवाज को रिकॉर्ड कर उनके द्वारा कराए गए विकास कार्यों को गीतों में, गजलों में पिरो कर लोकप्रिय संदेश बना रहे हैं ताकि मतदाताओं में उनका आकर्षण बढ़े. प्रोफेशनल कलाकार गाने, तराने, नारे व संदेश गढ़ रहे हैं. प्रत्याशियों के ऑडर मिल जाने के बाद काम और तेज हो गया है.

चुनाव प्रचार के लिए गानों की डबिंग करने वाले एग्जिबिशन रोड स्थित एक संगीत स्टूडियो के कलाकार ने बताया कि चुनाव प्रचार के लिए वर्ष 2009 से ही गीतों की डबिंग होती रही है. लोकसभा और विधानसभा चुनाव को लेकर पहले भी प्रत्याशी स्टूडियो आते रहे हैं. पहले कैसेट और सीडी का क्रेज था और प्रत्याशी कैसेट और सीडी के जरिये अपनी बात जनता के बीच रखते थे, पर अब ऐसा नहीं है. अब म्यूजिक डायरेक्टर और कंपोजर, चुनाव की तारीख तय होने के बाद से प्रत्याशी, फेसबुक और व्हाट्सअप का सहारा लेकर अलग-अलग गीतों का ऑडियो वीडियो शेयर करते है.

उनके द्वारा विभिन्न राजनीतिक दलों से जुड़े प्रत्याशियों के अलग-अलग सदाबहार गीतों के साथ भोजपुरी-मगही भाषा का प्रयोग किया जा रहा है. गीतों के बारे में स्टूडियो संचालक ने बताया कि प्रत्याशी देशभक्ति गीतों की तर्ज को ज्यादा पसंद कर रहे हैं. ‘हर कर्म अपना करेंगे’…की धुन पर कई गीत बन चुके हैं. वही अब भोजपुरी में ‘अबनी वोट देवे चलअ बलम जी’ .. ‘ई गारंटी वा एकर जोर नइखे’.. ‘हमरा निशनवा बड़ा नीक लागे ला….’ आदि गीतों को खूब पसंद किया जा रहा है. कई प्रत्याशियों ने, ‘जिसने काम किया है, काम करेंगे’; ‘जब तक प्राण है, सुबह ओ- शाम करेंगे’ की तर्ज पर भी गाने बनवा रहे हैं.