आज से ये हैं जेडीयू के भूतपूर्व एमएलसी

आज से ये हैं जेडीयू के भूतपूर्व एमएलसी

पटना (TBN डेस्क) | रविवार से बिहार विधान परिषद के 10 सदस्य अब भूतपूर्व विधान पार्षद कहलाये जाएंगे. इनका कार्यकाल शनिवार 23 मई को खत्म हो गया. ये सभी 2014 में राज्यपाल द्वारा मनोनीत किए गए थे.

दरअसल राज्यपाल द्वारा बिहार विधान परिषद के लिए कुल 12 सदस्यों का मनोनयन होता है. इस हिसाब से 12 सदस्यों का कार्यकाल खत्म हो गया है. लेकिन इन 12 विधान पार्षदों में से 2 सदस्य, राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह और पशुपति कुमार पारस केंद्र में मंत्री चुने जाने के बाद पहले ही इस्तीफा दे चुके हैं. बताते चलें कि 2014 में मनोनीत हुए नरेंद्र सिंह की सदस्यता रद्द होने के बाद लोक जनशक्ति पार्टी के पशुपति कुमार पारस को एमएलसी बनाया गया था.

बिहार विधान परिषद में अभी कुल 75 सीटें हैं. इनमें से 27 सदस्‍य बिहार विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से, 6 शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से, 6 स्‍नातक निर्वाचन क्षेत्र से, 24 स्‍थानीय प्राधिकार से तथा 12 मनोनीत सदस्‍य हैं.

रविवार 24 मई से जो विधान पार्षद भूतपूर्व कहलाएंगे, उनके नाम हैं – राम लखन राम रमण, विजय कुमार मिश्रा, राणा गंगेश्वर सिंह, जावेद इकबाल अंसारी, शिव प्रसन्न यादव, संजय कुमार सिंह, रामबचन राय, ललन कुमार सर्राफ, रणवीर नंदन तथा रामचंद्र भारती.

यदि राजनीतिक पार्टियों की बात करें तो अब विधान परिषद में नए समीकरणों के अनुसार, भाजपा के 17+1 (निर्दलीय अशोक अग्रवाल), जदयू के 15, राजद के 8+1 (निर्दलीय रीतलाल यादव), कांग्रेस के 2, मांझी की पार्टी हम तथा लोजपा के 1 – 1 सदस्य हैं.

वैसे बता दें कि अगले कुछ दिनों में बिहार के राज्यपाल द्वारा फिर से 12 नए सदस्यों का मनोनयन किया जा सकता है.