9 दिन बाद ट्रेन पहुंची बिहार, कांग्रेस ने PM पर साधा निशाना

पटना (TBN रिपोर्ट) | कोरोना आपदा के दौरान भी बिहार की राजनीति में लगातार हलचल सी मची हुई है. विपक्ष के दलों में केंद्र और राज्य सरकार को विभिन्न मुद्दों को लेकर घरने की होड़ लगी हुई है. इसी क्रम में बिहार कांग्रेस के प्रवक्ता राजेश राठौड़ ने श्रमिक स्पेशल ट्रेन के 9 दिनों के उपरांत बिहार पहुंचने पर सीधा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है.

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि कितने शर्म एवं अचरज की बात है कि एक तरफ बिहार की बहादुर बिटिया ज्योति की साइकिल 6 दिनों में दिल्ली से दरभंगा पहुंच जाती है. मगर मोदी सरकार की ट्रेन को बिहार पहुंचने में 9 दिन लग जाता है.

राजेश राठौड़ ने सवालिया लहजे में पूछा है कि देश के प्रधानमंत्री आखिर देश की जनता को कितने और आश्चर्य से रूबरू करवाएंगे. एक तरफ तो पीएम मोदी के त्रुटिपूर्ण फैसलों का कहर आम जनता को भुगतना पड़ रहा है. वहीं अब रेलवे की हालत कैसी हो गई है, इसका सहज अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आज जब बहुत ही कम ट्रेनें पटरी पर चल रही हैं. ऐसे में भी श्रमिक स्पेशल ट्रेन को बिहार आने में 9 दिन लग जाते हैं.

राजेश राठौड़ ने कहा कि बिहार आने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन 2 दिन के बदले 9 दिन में पहुंची. भूख और प्यास से व्याकुल होकर ट्रेन में सात बिहारी श्रमिकों को अपनी जान गंवानी पड़ी. इसके अलावा दो ट्रेन बिहार के बदले उड़ीसा-कर्नाटक पहुंच गए. आखिर इन भयानक अनियमितताओं की जिम्मेदारी कौन लेगा? क्या प्रधानमंत्री इसे बड़ी गलती मानते हुए रेल मंत्री पर कार्रवाई करेंगे?

कांग्रेस प्रवक्ता राजेश राठौड़ ने कहा कि केंद्र सरकार की लापरवाही के कारण रेलवे अब गरीब मजदूरों के साथ खिलवाड़ कर रही है. जिन गरीबों की जान इस भीषण लापरवाही के चलते गई है. इसके लिए जिम्मेदार लोगों को जांच करके उन पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए.

राठौड़ ने आगे कहा कि आज पूरा विश्व देख रहा है कि एक तरफ बिहार की एक बहादुर बिटिया अपने बुजुर्ग पिता को अपने साइकिल पर बिठाकर 6 दिनों में दिल्ली से दरभंगा पहुंच जाती है. वहीं सभी तरह के संसाधनों से लैश भारत सरकार की ट्रेन 2 दिनों की दूरी 9 दिनों पर पूरा कर पा रही हैं. उन्होंने कहा कि देश की जनता यह सब भूलने वाली नहीं है. आने वाले समय में जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हिसाब मांगेगी.

Advertisements