सुशील मोदी ने ट्वीट कर तेजस्वी से पूछे 5 सवाल

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | एक तरफ जहाँ बिहार विधान सभा चुनाव के पहले चरण के खत्म होने के बाद अब दूसरे और तीसरे चरण के लिए ताबड़तोड़ चुनावी सभाएं की जा रही है. वही सभी पार्टियां एक दूसरे के कामों पर सवाल उठाने से पीछे भी नहीं हट रही. एक तरफ जहां तेजस्वी यादव नीतीश कुमार के साथ-साथ एनडीए गठबंधन के नेताओं पर हमलावर हैं तो दूसरी तरफ सुशील मोदी ने एक ट्वीट करते हुए तेजस्वी यादव से 5 सवाल पूछे हैं.

आइए जानते हैं क्या है सुशील कुमार मोदी के 5 सवाल….

  1. जंगलराज के युवराज आज न यह बता रहे हैं कि 10 लाख लोगों को एक झटके में नौकरी देने के लिए 58 हजार रुपये कहां से लाएँगे, न वे यह बता पाये कि पटना में 7 लाख 66 हजार वर्गफीट कीमती भूमि पर ‘बिहार का सबसे बड़ा मॉल बनवाने के लिए 750 करोड़ रुपये कहाँ से लाये? राजद की राजनीति पूरी तरह कालेधन की फंडिंग से चलती है.
  2. तेजस्वी प्रसाद यादव ने न मैट्रिक पास किया, न कोई व्यापार किया और न लाखों रुपये के पैकेज वाली कोई नौकरी ही की. फिर गरीबों के युवा मसीहा के पास इतना धन कहां से आया कि वे 15 मंजिला मॉल में 1,000 दुकानें, शॉपिंग मॉल्स, मल्टीप्लेक्स और फाइव स्टार होटल बनवा रहे थे?
  3. क्या यह सच नहीं कि पटना की जिस जमीन पर युवराज का “महामॉल” बन रहा था, उसे जंगलराज के राजा ने 2004 में रेल मंत्री बनते ही आईआरसीटीसी होटल घोटाला के जरिये हासिल किया था? वे जनता को बतायें कि मॉल को ईडी ने क्यों जब्त कर निर्माण रोक दिया?
  4. केंद्र की यूपीए सरकार के रेल मंत्री लालू प्रसाद ने रेलवे के रांची और पुरी के दो होटलों को हर्ष कोचर की कंपनी को 15 साल के लिए लीज पर देने के एवज में राजद के सांसद प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता की कंपनी डिलाइट मार्केटिंग के जरिए हथिया ली थी. क्या बिहार की जनता से वोट मांगने से पहले यह बताया नहीं जाना चाहिए?
  5. युवराज आज अगर चार्टर प्लेन में बर्थडे केक काट कर गरीबों की राजनीति कर रहे हैं, तो जनता को क्यों नहीं बताते कि उन्होंने मात्र 64 लाख रुपये में डिलाइट कंपनी के करोड़ों रुपये मूल्य के सारे शेयर कैसे अपने और माताजी के नाम कर 94 करोड़ रुपये बाजार मूल्य की जमीन के मालिक बन गए थे? क्या वे फर्जीबाड़ा से गरीबी दूर करने वाला मॉडल थोपना चाहते हैं?