100 दिन होने पर आरजेडी ढोल पीटकर जगाएगी नीतीश कुमार को

पटना (TBN पोलिटिकल डेस्क) | “आदरणीय नीतीश जी देश के इकलौते ऐसे मुख्यमंत्री है जो गंभीर मानवीय संकट और आपदा काल मे 90 दिन से अपने आलीशान बँगले से बाहर नही निकले है” – ऐसा कहा है प्रतिपक्ष नेता तेजस्वी यादव ने. तेजस्वी ने कहा है कि नीतीश कुमार को जनता की नहीं बल्कि चुनाव के जातीय समीकरण की चिंता है.

सोमवार को तेजस्वी ने कहा कि बिहार में सबसे अधिक कोरोना संक्रमण फैलाव एवं सबसे धीमी गति से सबसे कम कोरोना जाँच के बावजूद नीतीश कुमार राज्य की सुध लेने अपने आलीशान बंगले से बाहर नहीं निकले हैं.

पिछले 100 दिनों में 12 करोड़ 60 लाख की आबादी वाले प्रदेश में अब तक मात्र 1 लाख 23 हज़ार ही जाँच होने पर उन्होंने पूछा कि क्या यह सच नहीं है कि बिहार में कोरोना जाँच की गति देश में सबसे कम है? जाँच की इस धीमी गति का दोषी कौन है तथा क्या तीन महीने बाद भी बिहार में हेल्थ इंफ़्रास्ट्रक्चर इतना दयनीय है कि एक दिन में 10 हज़ार जाँच भी नहीं हो पा रहा.

उन्होंने बताया कि बिहार सरकार ने कथित डोर टू डोर सर्वे में दावा किया था कि 10 करोड़ से अधिक लोगों की स्क्रीनिंग में लगभग 4 लाख को लगभग सर्दी, बुखार, गला दर्द अथवा कोरोना संबंधित लक्षण मिले थे. लेकिन फिर भी ऐसे सभी लोगों की कोरोना जाँच नहीं हुई है जिसका कारण सरकार को बताना होगा.

तजस्वी ने कहा कि सरकार दावा करती है कि अधिकांश कोरोना संक्रमित मरीज बाहर से बिहार लौटे श्रमिक है अथवा उनके संपर्क में आए व्यक्ति है. इसपर प्रश्न यह है कि क्या बिहार वापस लौटे 30-32 लाख श्रमिक भाईयों की जाँच हुई? क्या उनकी random sampling हुई?

नीतीश सरकार पर आरोप लगाते हुए तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कोरोना प्रबंधन को भूल कर चुनावी प्रबंधन में व्यस्त है तथा इनका ध्यान कोरोना संक्रमण रोकने की बजाय दूसरी ओर है और वे नागरिकों की लाशों पर चुनाव करवाना चाहते है.

उन्होंने मुख्यमंत्री से सवाल किया कि क्या मुख्यमंत्री को उनके आलीशान बंगले से कुछ ही दूरी पर अवस्थित कोविड अस्पतालों NMCH और PMCH में जाकर तैयारी का जायज़ा नहीं लेना चाहिए? बंद कमरों की समीक्षा में तो सब गुलज़ार और बहार ही दिखेगा, ज़मीनी हक़ीक़त ज़मीन पर जाने से ही मालूम पड़ेगा.

तेजस्वी ने कहा कि 10 दिन बाद नीतीश कुमार को अपने घर से बाहर नहीं निकलने के 100 दिन पूर्ण हो जाएँगे. उसके बाद उन्हें बाहर निकालने और नींद से जगाने के लिए राजद पूरे बिहार में ढ़ोल पिटवाएगी.