बिहार में पोस्टर विवाद जारी

पटना– बिहार की राजनीति में पिछले कुछ महीनों से जदयू और राजद के बीच पोस्टर विवाद जारी है। इन दिनों पटना की सड़कों पर लालू यादव (राजद) और नितीश कुमार (जदयू) के पोस्टरों को देखकर जनता खूब चुटकी ले रही है। नितीश कुमार (जदयू) ने एक पोस्टर जारी कर लालू यादव पर निशाना साधा था। जिसके बाद राजद ने नया पोस्टर जारी करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (जदयू) पर निशाना साधते हुए जबाब दिया है ” काम नहीं किया, काम नहीं गिनाऊंगा, 15 साल का काल्पनिक डर दिखाता रहूंगा, सरकारी खर्च पर पब्लिसिटी करता रहूंगा। नीचे नीतीश कुमार की तस्वीर के चारों तरफ हास्यास्पद शैली में लिखा हुआ है “माफिया को आवास पर बुलवाऊंगा। जनता को भरमाऊंगा। पटना को पानी में डुबाऊंगा। अखबार में अपनी तारीफ छपवाऊंगा। अपराधियों को पनाह दूंगा। टीवी पर चेहरा चमकाऊंगा। प्रचार पर झूठ फैलाऊंगा। रेडियो पर अपना गुणगान कराऊंगा। बच्चों को लाइन में लगवाऊंगा। मूंछ-तोंद वालों को बचाऊंगा।

जदयू के पोस्टर में राजद के खिलाफ लालू यादव पर सीधा निशाना साधते हुए लिखा था “परिवार मोह के प्यार में, पहुंच गए होटवार में। जिस धरा पर नरसंहारों में रक्त गिरे उसका शासक नकारा था। भ्रष्ट अपना आचार किया, दूसरों को नसीहत देता है, कभी ये न किया, कभी वो न किया, कभी धर्म कभी जाति की दुहाई देता है। परिवार के नाम पर भ्रष्टाचार सुनाई देता है।”

पोस्टर वार में कांग्रेस भी पीछे नहीं रहना चाहती है। कांग्रेस ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (जदयू) पर निशाना साधते हुए एक पोस्टर जारी किया है जिस पर लिखा है “विशेष राज्य का दर्जा, गरीबों का पलायन रोकना, अपराध पर लगाम, नई फैक्ट्री, रोजगार, महिला अत्याचार, कृषि क्षेत्र में उत्थान, आदि मुद्दों का जवाब दो।”

राजीनति में पोस्टर विवाद शुरू से चलता आ रहा है। राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे के काम के ऊपर ऊँगली उठाते हुए अपना विरोध दिखाते हैं। लेकिन पोस्टरों को इस तरह के हास्य तरीके से बनाया जाता है वो आम जनता के लिए बहुत मनोरंजक होता है