यूक्रेन में गो’लाबारी में मा’रे गए भारतीय छात्र के पिता से पीएम मोदी ने की बात

नई दिल्ली (TBN – The Bihar Now डेस्क)| प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार सुबह यूक्रेन के खार्किव में गोलाबारी में मारे गए एक भारतीय छात्र नवीन शेखरप्पा के पिता से (PM Modi spoke to father of Indian student killed in shelling in Ukraine’s Kharkiv) बात की. प्रधानमंत्री ने मृतक छात्र के पिता शेखरप्पा ज्ञानगौदर से फोन पर बात की और परिवार के सदस्यों के प्रति संवेदना व्यक्त की.

विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs) ने एक बयान में कहा कि क्षेत्र में गोलाबारी के कारण आज सुबह खार्किव में एक भारतीय छात्र की मौत हो गई. कर्नाटक राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (Karnataka State Disaster Management Authority) के आयुक्त डॉ मनोज राजन ने मृतक की पहचान कर्नाटक के हावेरी जिले के चलगेरी गांव के नवीन शेखरप्पा (Naveen Shekharappa) के रूप में की है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची (Ministry of External Affairs Spokesperson Arindam Bagchi) ने ट्विटर पर इस बात की जानकारी साझा की और परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की. उन्होंने ट्वीट में लिखा, “गंभीर दुख के साथ, हम पुष्टि करते हैं कि आज सुबह खार्किव में गोलाबारी में एक भारतीय छात्र की जान चली गई. मंत्रालय उनके परिवार के संपर्क में है. हम परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं.”

इस बीच बागची ने सूचित किया कि यूक्रेन संकट पर सोमवार शाम को एक उच्च स्तरीय बैठक में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पूरी सरकारी मशीनरी चौबीसों घंटे काम कर रही है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि वहां सभी भारतीय सुरक्षित हैं. बता दें, यूक्रेन में मौजूदा स्थिति पर दिन के दौरान प्रधान मंत्री की अध्यक्षता में यह दूसरी उच्च स्तरीय बैठक थी.

यह भी पढ़ें| शराब पीने वाले नहीं जाएंगे जेल, उन्हें सिर्फ करना होगा यह काम

विदेश मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, ज्योतिरादित्य सिंधिया, किरेन रिजिजू और जनरल (सेवानिवृत्त) वीके सिंह सहित ‘विशेष दूत’ रूसी सैन्य अभियानों के बीच फंसे भारतीयों को निकालने के लिए यूक्रेन के पड़ोसी देशों की यात्रा करेंगे.

24 फरवरी को प्रधान मंत्री ने यूक्रेन संकट पर नई दिल्ली में सुरक्षा पर कैबिनेट समिति (सीसीएस) की बैठक की अध्यक्षता की थी. केंद्र सरकार ने संघर्षग्रस्त यूक्रेन से फंसे छात्रों और भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए “ऑपरेशन गंगा” (Operation Ganga) शुरू किया है.

बताते चलें, कर्नाटक के रहने वाले एक भारतीय छात्र की यूक्रेन के खार्किव शहर में गोलाबारी में मौत हो गई. यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने 1 मार्च को एक एडवाइजरी जारी की, जिसमें सभी भारतीय नागरिकों से “उपलब्ध ट्रेनों या किसी अन्य उपलब्ध माध्यम से” तत्काल कीव छोड़ने का आग्रह किया गया, क्योंकि रूसी आक्रमण अपने छठे दिन भी जारी रहा.