क्वारंटाइन सेंटर में मजदूरों का हंगामा

समस्तीपुर (TBN रिपोर्ट) :- कोरोना संकट के बीच स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण के संदिग्धों और संक्रमितों को क्वारंटाइन सेंटर में रखने की व्यवस्था की गयी है. क्वारंटाइन सेंटर में स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों के द्वारा इनके स्वास्थ्य पर निगरानी रखते हुए खाने की भी सुविधा दी जाती है.

रोसड़ा शहर के प्लस टू उच्च विद्यालय परिसर स्थित क्वॉरंटाइन सेंटर में रह रहे पूर्णिया के दर्जनभर मजदूरों ने समय पर खाना न मिलने पर शुक्रवार दोपहर बाद हंगामा शुरू कर दिया. मजदूरों ने आरोप लगाते हुए कहा है कि सुबह में थोड़ा चूड़ा, चनाचूर और एक कप चाय के बाद खाने की व्यवस्था नहीं की गयी और ऐसा लगातार तीन दिनों से चल रहा है.

दर्जनभर मजदूरों ने तीन दिनों से देर से भोजन मिलने का आरोप लगाते हुए कहा कि पहले जब सेंटर पर ही खाना बनता था तो सही व्यवस्था थी. यहां खाना बनना बंद होने के बाद से गड़बड़ी होने लगी. सभी मजदूरों ने शिकायत करते हुए बताया कि उनको तीन दिन पूर्व ही फिटनेस प्रमाण पत्र मिल चुका है लेकिन फिर भी उनको घर भेजने की कोई व्यवस्था भी नहीं की जा रही है.

इसके बाद शाम चार बजे खाना लेकर पहुंचे सीओ ने सभी मजदूरों को भोजन करवाया. इस मामले के बारे में बात करते हुए उन्होंने बताया कि संबंधित संवेदक की लापरवाही के कारण इन लोगों को भोजन नहीं मिला. इसलिए लापरवाही बरतने के आरोप में संवेदक को कार्य मुक्त कर दिया गया है. आगे उन्होंने बताया कि 29 मार्च को समस्तीपुर से पूर्णिया लौट रहे इन मजदूरों को क्वारंटाइन सेंटर पर भर्ती कराया गया था.