समीक्षा बैठक के 12 घंटे के अंदर ही मुख्यमंत्री आवास से चंद किमी दूर देसी शराब बरामद

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) द्वारा शराबबंदी कानून (Prohibition) की समीक्षा बैठक के बारह घंटे बीतने से पहले ही राजधानी पटना (Patna) में कानून की धज्जियां उड़ाने का मामला सामने आया है. मुख्यमंत्री आवास (CM House) से महज चंद किलोमीटर दूर व्यक्ति को ट्रैफिक पुलिस (Patna Traffic Police) ने गिरफ्तार किया है. दरअसल, वह व्यक्ति दिन के उजाले में ठेले पर देसी शराब (Country Liquor) रख कर बेचने जा रहा था, जिसे ट्रैफिक पुलिस ने पकड़ लिया. घटना हड़ताली मोड़ के पास की है.

बता दें, बिहार में शराबबंदी कानून लागू है. शराब पीना, पिलाना, बेचना या रखना कानून के दायरे में आता है. कानून होने के बावजूद अवैध तरीके से शराब बेचने का धंधा जारी है. कानून को सख्ती से लागू कराया जा सके इसके लिए कल समीक्षा बैठक कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कई निर्देश दिए थे.

पुलिस को ठेलेवाले ने कही ये बात

दरअसल, शख्स ठेले पर सामान लेकर जा रहा था. इस दौरान हड़ताली मोड़ पर ट्रैफिक पुलिस ने उसे रोका. जब ठेले की जांच की गई तो भारी मात्रा में देसी शराब बरामद किया गया. ऐसे में पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. हालांकि, गिरफ्तारी के बाद शख्स ने जो बात कही वो चौंकाने वाली है.

यह भी पढ़ें| पाठक सख्ती से लागू करेंगे राज्य में शराबबंदी, नीतीश ने जताया भरोसा

उसका कहना है कि कमाने के चक्कर में कौन नहीं मरता है. मरता क्या नहीं करता है. पेट पालने के लिए ये सब करना ही पड़ता है. शख्स ने बताया कि वो शराब चुल्हाई चक से लाता है. फिलहाल, पुलिस शख्स से पूछताछ कर रही है. कौन-कौन से लोग इस धंधे में शामिल हैं, इसके बारे में जानकारी ली जा रही है.

मुख्यमंत्री ने दिए थे यह निर्देश

बताते चलें, मंगलवार की बैठक में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया था कि शहरों में होम डिलीवरी पर ध्यान रखना है. लोकेट करना है कि किस घर में शराब अधिक रखा गया है. कहां पर ज्यादा यूज हो रहा है. इसके बाद अभियान चला कर रेड करना है और दोषियों पर कार्रवाई करनी है. थानाध्यक्ष के शराब तस्करी में शामिल होने की शिकायत आने पर और दोष सिद्ध होने पर उन्हें 10 साल तक थानेदारी से वंचित किया जाएगा. वहीं, डायरेक्ट इंवॉलमेंट पर वे सेवा से बर्खास्त कर दिए जाएंगे. चौकीदार की जिम्मेवारी होगी कि गांव में हर गलत काम पर देंगे सूचना.

(इनपुट-एबी)