राशन के बाद अब पानी की किल्लत

नालंदा (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) :- एक तरफ बिहार कोरोना के संकट से जूझ रहा है वहीँ लोगों को लॉकडाउन के दौरान अभी भी खाने और राशन सहित तमाम परेशानियों को सामना करना पड़ रहा है.

नालंदा में लॉकडाउन में जहां ग्रामीणों के बीच राशन की समस्या बनी हुई थी अब गर्मी के बढ़ते ही पानी पर भी आफत होनी शुरू हो गयी है. इसके साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी योजना हर घर नल योजना की उनके गृहजिला नालंदा में ही पोल खुल रही है. लोग पीने की पानी की किल्लत को लेकर त्राहिमाम कर रहे हैं. ग्रामीणों ने राशन कार्ड और पानी की समस्या को लेकर प्रदर्शन किया है.

जिले के सकरौल पंचायत के शंकरपुर गांव में ग्रामीणों ने सामाजिक दूरी का पालन करते हुए राशन कार्ड और पानी की किल्लत को लेकर प्रदर्शन किया. राशन कार्ड और पानी की समस्या को लेकर लोगों का धैर्य जवाब दे गया और गुस्साए लोगों ने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया. ग्रामीणों का आरोप है कि गांव में नल-जल के तहत कोई भी कार्य नहीं हुआ है. 3 साल पूर्व लगा बोरिंग फेल हो गया है जिससे वर्तमान समय में पानी की समस्या उत्पन्न हो गई है. मजबूरी में ग्रामीणों को दूसरे गांव से पानी लेकर आना पड़ता है.

शंकरपुर गांव में कुल 70 घरों की आबादी है जहां 50 घरों के पास राशन कार्ड नहीं बना है जिससे उन्हें राशन नहीं मिल रहा है पंचायत के मुखिया से लेकर बिहारशरीफ प्रखंड के बीडीओ तक गुहार लगाने के बावजूद उनकी समस्या का समाधान नहीं किया गया है. शिकायत करने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हुई इसलिए मजबूरन उन्हें प्रदर्शन करना पड़ा रहा है.