चमकी के कहर से जुड़वा बहनों की मौत

मुजफ्फरपुर (TBN रिपोर्ट) :- बिहार में कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रभाव अभी भी कम होने का नाम नहीं ले रहा है. इस बीच बिहार के मुजफ्फरपुर जिले से एक बुरी खबर आ रही है. ताज़ा खबर के अनुसार मुजफ्फरपुर जिले में एईएस, यानि चमकी बुखार के कहर से आज इलाज के दौरान एसकेएमसीएच में चार साल की एक बच्ची की मौत हो गई. चमकी बुखार से अब तक तीन बच्चों की मौत हो चुकी है.

मिली जानकारी के अनुसार मुसहरी के रौशनपुर चक्की के रहने वाले सुखलाल सहनी की दो जुड़वाँ बेटियों का इलाज एसकेएमसीएच में चल रहा था. दोनों जुड़वा बहनें सुखी कुमारी और मौसम की उम्र चार साल थी. जिनमे एक बहन की ठीक 24 घंटे पहले ही मौत भी एईएस से हुई थी. अब हाल ही में आज उसकी दूसरी बहन की मौत हो गई. 

अभी एईएस या चमकी बुखार से 15 बीमार बच्चों का इलाज चल रहा है. दस बच्चों को एसकेएमसीएच और पांच को सदर हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. इस बीमारी का असर हर साल मुजफ्फरपुर, वैशाली, समस्तीपुर, पूर्वी चंपारण समेत कई जिलों में गर्मी के मौसम में दिखता है. कुछ दिन पहले से ही इसका असर बच्चों पर दिखने लगा है.

बता दें “एक्यूट इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम” को बोलचाल की भाषा में लोग चमकी बुखार कहते हैं. इस संक्रमण से ग्रस्त रोगी का शरीर अचानक सख्त हो जाता है और मस्तिष्क व शरीर में ऐठंन शुरू हो जाती है. आम भाषा में इसी ऐठन को चमकी कहा जाता है, बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में पिछले वर्ष भी  चमकी बुखार का  कहर बरपा था. इस खतरनाक बुखार की चपेट में आकर सैंकड़ों बच्चों ने अपनी जान गवाई थी