बिहार मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट 10 मई तक आने की उम्मीद

पटना (TBN रिपोर्ट) :- भारत में कोरोना के प्रभाव के चलते लॉकडाउन के बाद विभिन्न क्षेत्रों में इसका असर देखने को मिल रहा है. कोरोना के कारण बिहार बोर्ड ने इस बार मैट्रिक का रिजल्ट तय समय पर देने में असमर्थता जताई है लेकिन अब बिहार मैट्रिक परीक्षा रिजल्ट का समय नजदीक आता जा रहा है ऐसी आशंका जताई जा रही हैं कि अगर  लॉकडाउन की अवधि 3 मई से आगे नहीं बढाई गयी तो मैट्रिक का रिजल्ट 10 मई तक आने की पूरी उम्मीद है.

इस मामले में जानकारी देते हुए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि “मैट्रिक की कॉपी जांच के काम को अब 3 मई तक स्थगित कर दिया है. कोरोना की महामारी से एहतियातन किए गये लॉकडाउन के बीच कॉपी जांच को पहले 31 मार्च तक स्थगित किया गया था लेकिन बाद में लॉकडाउन बढ़ने के साथ 14 अप्रैल फिर अब इसे बोर्ड ने आगे बढ़ाते हुए 3 मई तक कर दिया है”. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि “अभी तक केवल  75 फीसदी कांपियों का ही जांच का कार्य समाप्त हो सका है, जबकि 25 फीसदी जांच का कार्य अभी बाकी है. बाकी बची प्रकियाओं को पूरा करने में तीन से चार दिन का और समय चाहिए”. ऐसे में 10 मई तक रिजल्ट आने की उम्मीद की जा रही है.

हालांकि अभी बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर की तरफ से मैट्रिक रिजल्ट के लिए कोई डेट तय नहीं की गयी है. बोर्ड प्रशासन के मुताबिक जब उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य, टॉपर्स की कॉपियों और उनका वीडियो कॉल से फिजिकल वेरिफिकेशन का काम पूरा हो जाएगा, तभी इसके बारे में बताया जाएगा.